DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्नाटक में बीजेपी का समझौता फार्मूला

कर्नाटक में बीजेपी का समझौता फार्मूला

कर्नाटक संकट को लेकर भाजपा नेतृत्व ने संभवत: एक ऐसे समझोते फार्मूले की पेशकश की है, जिसके तहत मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को हटाने की मांग कर रहे असंतुष्टों को शांत करने के लिए राज्य की ग्रामीण विकास मंत्री शोभा करंदलाजे को हटाया जा सकता है।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की संभावना से इंकार करते हुए कहा कि इस बारे में चर्चा नहीं हो सकती क्योंकि शीर्ष नेताओं ने पर्यटन मंत्री एवं असंतुष्ट नेता जनार्दन रेड्डी को सूचित किया है कि उनकी कुछ मांगों को पूरा किया जा सकता है। समझोता फार्मूले में विधानसभा अध्यक्ष जगदीश शेट्टर को कैबिनेट मंत्री बनाना और मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव पीवी बालिगर को हटाने जैसी मांगों को पूरा करना भी शामिल हैं। यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है कि असंतुष्टों को यह फार्मूला मंजूर है या नहीं।

संकट के समाधान के प्रयास में राजनाथ के अलावा शीर्ष भाजपा नेता सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू, अरूण जेटली और अनंत कुमार ने पहले आपस में कई दौर की बैठकें कीं और बाद में जनार्दन रेड्डी से बातचीत की। नायडू ने अनंत कुमार, सुषमा और जेटली के साथ मिलकर जनार्दन रेड्डी से बात की। नायडू ने बताया कि संकट एक या दो दिन में हल हो जाएगा। रेड्डी ने इन सवालों को टाल दिया कि उन्हें कथित फार्मूला मंजूर है या नहीं।

उन्होंने संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा कि मैं मुख्यमंत्री से नहीं मिलूंगा तो आप मुझसे ये सवाल क्यों कर रहे हैं मैं उनसे क्यों मिलूं मैं मुख्यमंत्री से नहीं मिलूंगा। जनार्दन रेड्डी तीन दिन से दिल्ली में हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने राजनाथ सहित सभी वरिष्ठ पार्टी नेताओं से मुलाकात कर उन्हें विस्तार से स्थिति स्पष्ट कर दी है और पिछले पांच छह दिन से मैं यही कहता आ रहा हूं।

उन्होंने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी सहित सभी नेताओं ने उम्मीद जताई है कि पार्टी आलाकमान राज्य, पार्टी और विकास के हित में काफी अच्छा फैसला करेगा। उन्होंने विश्वास जताया कि पार्टी राज्य में अच्छा नेतृत्व प्रदान करेगी।

रेड्डी अपने भाई राजस्व मंत्री करुणाकर रेड्डी के साथ मिलकर असंतुष्टों के खेमे की अगुआई कर रहे हैं और वे येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग कर रहे हैं।

इससे पहले येदियुरप्पा ने असंतुष्टों को मनाने की कवायद में कहा कि वह जनार्दन रेड्डी और उनके भाई करूणाकर रेड्डी से मुलाकात की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। रेड्डी ने हालांकि यह कहते हुए येदियुरप्पा की पेशकश ठुकरा दी कि मैं मुख्यमंत्री से किसी भी सूरत में नहीं मिलूंगा। पार्टी नेताओं ने उनसे कहा कि मुख्यमंत्री के खिलाफ उनकी सार्वजनिक टिप्पणी स्वीकार्य नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कर्नाटक में बीजेपी का समझौता फार्मूला