DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो वर्ष से टकटकी लगाए बैठे हैं दो हजार बेरोजगार

नगर निगम के अफसरों की उदासीनता के चलते दो साल पहले लिए गए साक्षात्कार का नतीजा अभी तक नहीं निकल पाया है। जिन चार पदों का रिजल्ट घोषित करने के लिए साक्षात्कार के अंक जोड़े गए थे, उन्हें भी अभी तक नियुक्ति नहीं दी गई। यह स्थिति तब है जब चयन समिति रिजल्ट घोषित करने के लिए करीब तीन महीने पहले अपनी संस्तुति नगर आयुक्त के पास भेज चुकी है।

वर्ष 2007 में 40 पदों के लिए साक्षात्कार लिए गए थे। इसमें माली, अटेंडेंट, मिडवाइफ, केयर टेकर, डीआई कहार, बेलदार, मिस्त्री (मेसन), वार्ड कुली, दाई, सफाई नायक, बोटमैन, चपरासी और कंप्यूटर आपरेटर के लिए करीब दो हजार से अधिक लोगों ने आवेदन किया था। नगर निगम की चयन समिति ने अक्टूबर से नवंबर 07 में आवेदकों का साक्षात्कार लिया था। तत्कालीन नगर आयुक्त लालजी राय के तबादले के चलते साक्षात्कार के नतीजे घोषित नहीं किए जा सके।

चयन समिति के सदस्यों की अंक तालिका को लिफाफे में सील कर दिया गया। करीब पौने दो साल तक लिफाफा खुला ही नहीं। शासन के निर्देश पर जुलाई में हुई चयन समिति की बैठक में केयर टेकर के दो और मिडवाईफ व दाई के एक-एक पद के लिए रिजल्ट तैयार कर लिया गया। चयन समिति ने चार पदों का रिजल्ट घोषित करने की संस्तुति नगर आयुक्त के पास भेज दी, लेकिन अभी तक अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र नहीं मिला। रिजल्ट घोषित करने में विलंब की वजह अब आचार संहिता को बताया जा रहा है।

चयन समिति के मुखिया हैं अपर नगर आयुक्त सत्य प्रकाश पांडेय। इनके अलावा सच्चिदानंद सिंह, मुख्य लेखाधिकारी लालजी मिश्र, मुख्य अभियंता जितेंद्र केन, कर निर्धारण अधिकारी रवीश चौधरी के अलावा डीएम के प्रतिनिधि अच्छेलाल यादव सदस्य हैं। चयन समिति के अध्यक्ष का कहना है कि व्यस्तता के चलते डीएम के नामित सदस्य नहीं आ पा रहे हैं।

अब किसी नए प्रतिनिधि का नाम भेजने के लिए डीएम को चिट्ठी भेजी गई है। चार पदों के लिए चार महीने बाद भी नतीजा क्यों नहीं घोषित किया गया? इस बारे में कोई भी टिप्पणी करने से अपर नगर आयुक्त ने इनकार कर दिया। नगर निगम के अफसरों की उदासीनता के चलते 40 पदों के लिए आवेदन करने वाले दो हजार बेरोजगार टकटकी लगाए हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो वर्ष से टकटकी लगाए बैठे हैं दो हजार बेरोजगार