DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नए मॉडल की महंगाई दर में प्राथमिक उत्पादों में गिरावट

नए मॉडल की महंगाई दर में प्राथमिक उत्पादों में गिरावट

सरकार ने गुरुवार को थोकमूल्य सूचकांक जारी करने की एक नई व्यवस्था शुरू की, जिसके तहत अनाज, दाल और सब्जियों समेत प्राथमिक जिंसों और ईंधन के साप्ताहिक थोक मूल्य सूचकांक जारी किए जाएंगे और मुद्रास्फीति का अब तक साप्ताहिक आधार पर जारी किया जाने वाले व्यापक आंकडे़ मासिक आधार पर जारी किए जाएंगे।

प्राथमिक जिंसों के गुरुवार को पहली बार अलग से जारी साप्ताहिक आंकड़ों के अनुसार 24 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह के दौरान प्राथमिक जिंसों के थोकमूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति में 0.11 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी। आंकडे़ के मुताबिक ईंधन, बिजली, लाईट और ल्युब्रिकेंट वर्ग की मुद्रास्फीति 6.2 फीसद पर अपरविर्तित रही।

थोकमूल्य सूचकांक पर आधारित पहला मासिक आंकड़े 12 नवंबर को जारी किए जाएंगे।
सरकार ने एक बयान में कहा है कि नई प्रणाली के मुताबिक साप्ताहिक थोकमूल्य सूचकांक के आंकडे़ के तहत सिर्फ प्राथमिक उत्पाद और ईंधन, बिजली, लाईट और ल्युब्रिकेंट के आंकडे़ शामिल होंगे।

बयान में कहा गया कि आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति द्वारा लिए गए फैसले के मुताबिक 12 नवंबर को मासिक मुद्रास्फीति के आंकडे़ जारी किए जाएंगे, जिसमें सभी जिंस शामिल होंगे।


पिछले साल के मुकाबले प्राथमिक उत्पादों की कीमत औसतन  8.94 फीसद ऊंची है। इस दौरान आलू की कीमत में 100 फीसदी, प्याज 50 फीसदी, दालों में 23 फीसदी और दूध में 10 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई है।

समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान एक सप्ताह पूर्व की तूलना में फल एवं सब्जियों की कीमत दो फीसदी, समुद्री मछली में तीन फीसदी, जौ और ज्वार में एक़-एक फीसदी की गिरावट हुई।

हालांकि मूंग तीन फीसदी, गेहूं और बाजरा दो-दो फीसदी महंगा हुआ। इसके अलावा कच्चा रेशम छह फीसदी मंहगा हुआ, जबकि कच्चा रबर तीन फीसदी और सरसों एक फीसदी मंहगा हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नए मॉडल की महंगाई दर में प्राथमिक उत्पादों में गिरावट