DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'मुख्यमंत्री मोदी से मदद मांगने पर मिली गाली'

'मुख्यमंत्री मोदी से मदद मांगने पर मिली गाली'

2002 में हुए गुजरात दंगों का एक और काला सच सामने आया है। विशेष न्यायालय में सुनवाई के दौरान एक प्रमुख गवाह मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया है कि जब कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी ने मोदी से फोन पर मदद मांगी तो मोदी ने मदद देने की बजाय गाली दी।

गुजरात के गुलबर्गा सोसाइटी में हुए दंगों में कुल 69 लोग मारे गए थे। यह घटना 28 फरवरी, 2002 की है, जिसमें पूर्व सांसद एहसान जाफरी की भी मौत हो गई थी, जिनका शव भी अभी तक नहीं मिल पाया है।

विशेष अदालत में एक चश्मदीद गवाह इम्तियाज पठान ने बताया कि दंगाईयों से बचने के लिए जब एहसान जाफरी ने मुख्यमंत्री को फोन किया तो उन्होंने मदद भेजने की बजाय गाली दी। अभी तक इस पर गुजरात सरकार का कोई भी बयान नहीं आया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'मुख्यमंत्री मोदी से मदद मांगने पर मिली गाली'