DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चार मीनार के मैदान में तेंदुलकर बनेंगे 17 हजारी!

चार मीनार के मैदान में तेंदुलकर बनेंगे 17 हजारी!

देश और दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमियों को गुरुवार को हैदराबाद के करीब उप्पल में स्थित राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के साथ खेले जाने वाले पांचवें एकदविसीय मैच के दौरान मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के 17,000 एकदिवसीय रन पूरे होने का इंतजार है।

लगभग दो दशकों से भारतीय क्रिकेट के खेवनहार रहे तेंदुलकर को इस जादुई आंकडे़ को छूने के लिए सात रनों की दरकार है। पहले लगा था कि मोहाली का पंजाब क्रिकेट संघ स्टेडियम तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड का गवाह बनेगा, क्योंकि उन्हें इसके लिए 47 रन बनाने की जरूरत थी।

40 रन के व्यक्तिगत योग के मुकाम पर वह नेथन हारित्ज की गेंद पर पगबाधा आउट करार दे दिए गए थे। टीवी रिप्ले को देखने से लगा कि तेंदुलकर के खिलाफ अंपायर अशोक डीसिल्वा का वह फैसला विवादास्पद था, क्योंकि लेग स्टंप से बाहर जा रही गेंद उनके पैड से टकराई थी। अब राजीव गांधी स्टेडियम तेंदुलकर के इस रिकार्ड का गवाह बनता दिख रहा है।

अपने करियर का 434वां मैच खेल रहे तेंदुलकर ने 16,993 हजार रनों तक के अपने शानदार सफर के दौरान कुल 44 शतक और 91 अर्धशतक लगाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 1851 चौके और 177 छक्के निकले हैं। एकदविसीय मैचों में उनका सर्वोच्च व्यक्तिगत योग 186 नाबाद रहा है।

तेंदुलकर ने 18 दिसंबर, 1989 को गुजंरावाला में पाकिस्तान के खिलाफ अपने एकदविसीय अंतराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी। उस समय उनकी उम्र 16 वर्ष के करीब थी। तेंदुलकर ने टेस्ट मैचों में सर्वाधिक 12773 रन बनाए हैं। उनके नाम सर्वाधिक 42 शतक दर्ज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चार मीनार के मैदान में तेंदुलकर बनेंगे 17 हजारी!