DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी में राहुल संभालेंगे सदस्यता अभियान की कमान

कांग्रेस को नौजवानों की पार्टी बनाने के लिए राहुल गांधी ने कमर कस ली है। नवम्बर के दूसरे हफ्ते से शुरू होने वाले युवक कांग्रेस के सदस्यता अभियान में राहुल खुद हिस्सा लेंगे। प्रदेश के मध्य क्षेत्र में युवाओं को राजनीति में प्रेरित करने और उन्हें कांग्रेस में जोड़ने के लिए राहुल कॉलेजों, कोचिंग सेंटरों में जाएंगे। राहुल का यह नया प्रयोग विपक्ष के लिए और मुश्किलें खड़ी कर सकता है।

यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक तंवर और यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय समन्वयक भंवर जितेन्द्र सिंह बुधवार को लखनऊ आए। उन्होंने मध्य जोन के संगठनात्मक चुनाव की औपचारिक घोषणा की। यह चुनाव पूर्व चुनाव आयुक्त लिंगदोह के एनजीओ फेमा की निगरानी में होंगे। फेमा के निदेशक व पूर्व चुनाव सलाहकार केसी राव भी यहां मौजूद थे। तंवर ने बताया कि चुनाव से पहले 31 दिसम्बर 09 तक सदस्यता अभियान चलेगा। सदस्य बनाने के लिए अन्य राज्यों की यूथ कांग्रेस की टीमें यहां आकर कैम्प करेंगी।

मध्य जोन में इसका विस्तार 26 लोकसभा व 131 विधानसभा क्षेत्रों में होगा। इस अभियान में राहुल खुद मध्य
जोन का दौरा करेंगे। तंवर ने बताया कि इस चुनाव में आपराधिक छवि वाले युवा हिस्सा नहीं ले सकेंगे। चुनाव वही लड़ सकेंगे, जिनकी उम्र 35 साल से कम होगी। सभी सदस्यता ग्रहण करने वालों के फोटो, आईकार्ड बनेंगे। चुनाव की मतदाता सूची भी फोटो युक्त होगी। युवा सांसद भंवर ने कहा कि यह सब पारदर्शी चुनाव से अच्छे लोग राजनीति में आएंगे।

इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि राहुल गांधी पूरे हिन्दुस्तान के युवाओं का नेतृत्व कर रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस की तरफ से युवा कांग्रेस को पूर्ण सहयोग मिलेगा। फेमा के निदेशक केजी राव ने कहा कि फिलहाल यह प्रयोग केवल यूथ कांग्रेस व एनएसयूआई में किया जा रहा है।उनसे पूछा गया कि क्या प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संगठन चुनाव भी फेमा की निगरानी में होंगे। इस पर राव ने कहा कि यह सवाल उन्होंने राहुल गांधी से पूछा था तो उनका जवाब था कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की मुखिया सोनिया जी हैं। यह उनका अधिकार क्षेत्र है, इसलिए फैसला उन्हें लेना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी में राहुल संभालेंगे सदस्यता अभियान की कमान