DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रुपहले पर्दे पर दिखेगा वेस्टर्न यूपी का सौंदर्य

मेरठ के प्राचीन मंदिर, हस्तिनापुर में गंगा का अद्वितीय सौंदर्य और उत्तराखंड की पहाड़ियों के खूबसूरत नजारे अब रुपहले पर्दे पर नजर आएंगे। देशभर को उत्तराखंड की वादियों और पश्चिमी उत्तरप्रदेश क ी पारंपरिक कलाओं से लोग ‘अंचल के मोती’ के जरिए रूबरू होंगे। जिसमें पश्चिमी उत्तरप्रदेश एवं उत्तराखंड की पारंपरिक कलाओं और कलाकारों को शामिल कर क्षेत्रीय फिल्में और वृत्तचित्र बनाएं जाएंगे। इन फिल्मों का प्रसारण राष्ट्रीय स्तर के चैनलों में होगा।

शहर की कला और कलाकारों को मंच देने के लिए दूरदर्शन के कार्यक्रम निर्देशक रहे नीरज शर्मा ने ‘अंचल के मोती’ नामक योजना बनाई है। जिसमें क्षेत्रीय भाषाई फिल्मों और कार्यक्रमों का प्रसारण किया जाएगा। खास बात यह कि योजना का हेडक्वार्टर मेरठ को बनाया गया है। मेरठ मंडल के सभी जिलों सहित पश्चिमी उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान सभी को दिशा-निर्देश मेरठ से ही मिलेगा।

जिसमें शहर की संयुक्त प्रगतिशील नाटय़ संघ (अप्टा) अपना सहयोग देगी। योजना संचालक नीरज शर्मा बताते हैं ‘क्षेत्रीय कलाएं आज भी लोगों से दूर हैं। लोगों को अपने शहर की संस्कृति और कलाओं की जानकारी नहीं हैं। ‘अंचल के मोती’ इस दायरे को मिटाएगा। जिसमें क्षेत्रीय कलाकार और शैलियों का प्रयोग होगा। ये फिल्में दूरदर्शन के साथ मनोरंजन चैनलों पर प्रसारित होंगी। जिनमें अभिनय, गायकी, निर्माण, निर्देशन और वादन भी क्षेत्रीय कलाकार करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रुपहले पर्दे पर दिखेगा वेस्टर्न यूपी का सौंदर्य