DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोबोट भी करेंगे प्यार, साइबर सिटी के यंगस्टर्स का कारनामा

एक मेल रोबोट और एक फिमेल रोबोट में बीच भावनात्मक लगाव है। साइबर सिटी के यंगस्टर्स ने थ्रीडी एनिमेशन के जरिए इसे जीवंत करने की पहल की है। फीमेल रोबोट नए तकनीक की है और कोई भी काम फटाफट करती है। उसे यह पसंद नहीं है कि उसका दोस्त यानि मेल रोबोट धीमी गति से काम करे। प्यार फिमेल रोबोट को प्रेरित करता है। वह एक सिलिकॉन चिप जुटाती है ताकि उसका दोस्त भी उसके जैसा ही तेज तर्रार हो जाए और दूसरे रोबोट उसका मजाक ना उड़ा सकें। वह चिप मेल रोबोट में लगा देती है। मेल रोबोट तेज तर्रार तो हो जाता है, मगर वह स्वभाव से बदल जाता है। उसकी भावनाएं फिमेल रोबोट को लेकर शून्य होने लगती हैं। आधुनिकता, भावनाओं और संवेदनाओं पर हावी हो जाती है।

यह कहानी उस थ्रीडी एनिमेशन फिल्म की है, जिसे गुड़गांव की माया एकेडमी ऑफ एडवांस्ड सिनेमेटिक्स के पांच छात्रों ने तैयार किया है। इन छात्रों की उम्र18 से 22 साल के बीच है। प्यार की थीम पर बनी थ्रीडी एनिमेशन फिल्म मॉर्टल इमोशन एनिमेशन फिल्मों की अखिल भारतीय प्रतियोगिता में शामिल होने जा रही है। 24वां एफपीएस एनिमेशन अवार्ड 2008-09 मुंबई में छह नवंबर को होने जा रहा है। इसमें देश भर की एनिमेशन फिल्में भाग लेंगी

रोबोट्स पर एनिमेशन फिल्म तैयार करने वाले अधिसंख्य छात्र गुड़गांव के आस-पास के रहने वाले हैं। गौरव जत्याल, प्रमोद यादव, अभिषेक गर्ग, रोहित कुमार, अतुल सैनी और ओंकार टूटेजा अपनी बनाई फिल्म मॉर्टल इमोशन को लेकर बुधवार को प्रतियोगिता में हिस्सा लेने मुंबई रवाना हुए। छात्रों ने बताया कि उन्हें वैज्ञानिक रूप से काफी आगे निकल चुकी दुनिया में खत्म होती संवेदनाओं को दर्शाने की सूझ आधुनिक जीवनशैली से मिली।

माया एकेडमी के सेंटर हेड मनप्रीत सिंह ने बताया कि संस्थान में बेस्ट मॉडलिंग, बेस्ट स्टोरी कांसेप्ट, बेस्ट प्री प्रोडक्शन, बेस्ट लाइटिंग और सिनेमेटोग्राफी आदि की प्रतियोगिता कराने के बाद इस फिल्म को अखिल भारतीय प्रतियोगिता में भेजने के लिए चुना गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रोबोट भी करेंगे प्यार, साइबर सिटी के यंगस्टर्स का कारनामा