DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैंगमैनों को क्यों नहीं सुनाई दिया हॉर्न, कमेटी करेगी जांच

एक साथ सात लोगों का ट्रेन की चपेट में आना? सभी को ट्रेन का हॉर्न न सुनाई देना? इस सवाल ने उत्तर रेलवे के जीएम तक को परेशान कर दिया है। आखिर यह हादसा हुआ किसकी गलती से? इसके हर पहलू पर रेलवे के अधिकारियों ने जांच शुरू कर दी है। दिल्ली मंडल के सीनियर डिविजनल सिक्योरिटी ऑफिसर (डीएसओ) और सीनियर डिविजनल इंजीनियर को इसका जिम्मा दिया गया है। गुरुवार तक जांच रिपोर्ट सौंपनी है। इसमें हादसे की वजह का खुलासा होगा।

बुधवार देर रात उत्तर रेलवे के जीएम विवेक सहाय ने घायल नौबत सिंह को अस्पताल में देखने के दौरान अधिकारियों से घटना का जायजा लिया। प्राथमिक जांच में सामने आया कि नई दिल्ली-पलवल ईएमयू एनपी-6 के ड्राइवर ने हॉर्न बजाने की बात कहकर सफाई दी है। गलती गैंगमैनों की बताई जा रही है। सहाय सहित रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के जहन में सवाल कौंध रहा है कि एक गैंगमैन को हॉर्न सुनाई नहीं दिया। दूसरे के साथ भी ऐसा हुआ। लेकिन सातों गैंगमैनों को हॉर्न सुनाई न देने की बात उन्हें भी हजम नहीं हो रही।

घटनास्थल पर मंजर देखने वाले कुछ रेलवे अधिकारियों का कहना है कि शायद दूसरी ट्रेनों की आवाज में हॉर्न की आवाज दब जाने से ऐसा हुआ। जीएम ने डीएसओ और डीई को जांच सौंपी है। आदेश दिया है, पता किया जाए कि ईएमयू के ड्राइवर ने हॉर्न दिया या नहीं? लाइट जली थी या नहीं? अगर हॉर्न और लाइट जली थी तो हादसा कैसे हुआ? इन सवालों का जवाब खोज कर रिपोर्ट गुरुवार को सोंपने को कहा है। इस रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। ईएमयू के ड्राइवर को दोषी पाए जाने पर उस पर कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैंगमैनों को क्यों नहीं सुनाई दिया हॉर्न, कमेटी करेगी जांच