DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला से सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस की लापरवाही से भागे दुष्कर्मी

गैंगरेप की शिकार महिला के पति ने पुलिस पर लापरवाही बरतने व मारपीट करने का आरोप लगाया है। घटना की रात जब वह अपने पड़ोसियों के साथ इसकी सूचना देने चौकी पहुंचा, तो हरकत में आने की बजाय पुलिस वालों ने उसे गालियां दीं और डंडे से पिटाई की। इसके बाद उसे चौकी से भगा दिया गया। महिला के लौटकर आने पर रिपोर्ट दर्ज करने में भी लापरवाही बरती गई। भुक्‍तभोगी का आरोप है कि पुलिस समय रहते हरकत में आती, तो दुष्कर्मियों को रात में ही पकड़ा जा सकता था।

संवेदनशील मामलों में पुलिस की लापरवाही जगजाहिर है। इसका एक उदाहरण सोमवार रात सामने आया। गोंछी गांव में किराए के कमरे में रहने वाला मोनू (बदला हुआ नाम) सोमवार रात करीब दस बजे साइकिल पर अपनी पत्नी के साथ उसके मायके से वापस आ रहा था। रास्ते में गोंछी गांव की ओर से आ रही कार में सवार पांच युवकों ने उन्हें रोक लिया। युवक मोनू के साथ मारपीट कर महिला को जबरन कार में उठा ले गए। मोनू किसी तरह अपने कमरे पर पहुंचा और पड़ोसी खेमचंद्र व अन्य के साथ अपनी पत्नी को खोजने में जुट गया। पत्नी का पता न चलने पर वह रात करीब दो बजे चौकी पहुंचा।

मोनू का आरोप है कि चौकी इंचार्ज शिकायत सुनने के बाद उसे गालियां देने लगे। उसकी डंडे से पिटाई कर चौकी से भगा दिया। सुबह करीब पांच बजे उसकी पत्नी दुष्कर्मियों के चंगुल से छूटने पर वापस आई, तो वह फिर उसे लेकर चौकी पहुंचा। इस बार भी लापरवाही बरती गई और घटना को झूठा बताते हुए रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया। मोनू ने बताया कि इसके बाद वे थाना प्रभारी राधेश्याम के पास गए। उन्होंने महिला का बयान कलमबद्ध किया और मेडिकल के लिए भेजा। मेडिकल रिपोर्ट आने पर सात लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिला से सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस की लापरवाही से भागे दुष्कर्मी