DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रिपल मर्डर केस का खुलासा, फिसड्डी साबित हुई नोएडा पुलिस

तमाम सुरागों के बावजूद नोएडा पुलिस को एक बार फिर सेक्टर-99 में हुए ट्रिपल मर्डर केस में मुंह की खानी पड़ी है। हालांकि इसमें शामिल बदमाशों को हापुड़ पुलिस ने मंगलवार शाम को धनौरा के जंगल से गिरफ्तार कर लिया। मोबाइल, पर्स से लेकर अन्य कई सुरागों के बाद हापुड़ पुलिस के हत्थे चढ़ने से, नोएडा पुलिस के सभी दावे खोखले साबित हो गए। नोएडा पुलिस इस मामले को कभी बावरिया से जोड़ती रही, तो कभी अपनी नाकामी छिपाने के लिए सुरागों में उलझती रही। नोएडा पुलिस को इस तरह की नाकामी पहली बार नहीं मिली है। कुख्यात अपराधी रावण व सुंदर भाटी के मामले में भी ऐसा हो चुका है।

15-16 अक्टूबर की रात को सेक्टर-99 में यूनीटेक चौराहे के पास बदमाशों ने तीन बंजारों के साथ लूटपाट कर हत्या कर दी थी। मृतक एक ही परिवार के थे। तीनों की हत्या के बाद बदमाश हापुड़ भाग गए थे। गिरफ्तार बदमाशों में हारून ऊर्फ फंतू, महमूद ऊर्फ मुन्ना, चमन ऊर्फ वोना व युसुफ शामिल हैं। मंगलवार की रात को हापुड़ देहात पुलिस ने डकैती की योजना बनाते धनौरा जंगल के पास से 11 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया था। इनमें से चार बदमाशों ने सेक्टर-99 में ट्रिपल मर्डर करने की बात स्वीकार की।

एसपी सिटी अशोक त्रिपाठी ने बताया कि दिल्ली से आते समय एक्सप्रेस-वे पर चारों बदमाश उतर गए थे। इसके बाद एक्सप्रेस-वे के किनारे झुग्गी बनाकर रह रहे बंजारों की चांदी की हसली, व पाजेब लूटने लगे। इसी बीच विरोध करने पर बिरजू, उसकी पत्नी इंदिरा व बेटी जयंती को हथौड़े से मार दिया था। उन्होंने बताया कि लूटने के बाद सभी बदमाश ट्रक से लिफ्ट लेकर हापुड़ भाग गए। गिरफ्तार बदमाशों के पास से तीन तमंचे, कारतूस व जेवर बरामद किए गए हैं।

पश्चिम यूपी में सक्रिय था गैंग
हापुड़ से गिरफ्तार सभी बदमाश पश्चिम यूपी में लूट व हत्या की कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। 15 अक्टूबर की रात को नोएडा में ट्रिपल मर्डर को अंजाम देने के बाद दादरी में 19 अक्टूबर को चार घरों में डकैती की वारदात इसी गैंग ने की था। दादरी की घटना में सभी 11 बदमाश शामिल थे। इसके अलावा गढ़मुक्तेश्वर, बहादुरगढ़, विजयनगर, बागपत, बुलंदशहर में भी कई जघन्य आपराधिक घटनाओं को ये अंजाम दे चुके हैं। इस गैंग का सरगना महमूद ऊर्फ मुन्ना है, जो गाजियाबाद का हिस्ट्रीशीटर है। दादरी में डकैती की घटना का मुख्य सूत्रधार युसुफ था।


बार-बार फेल होती है नोएडा पुलिस
नोएडा पुलिस के मुंह से निवाला छिनने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी नोएडा पुलिस कई बदमाशों को पकड़ने में नाकाम साबित हुई है। जनपद का खूंखार अपराधी रावण घटनाओं को अंजाम देने के बाद दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा, तो कुख्यात सुंदर भाटी को हरियाणा पुलिस ने दबोचा। इन दोनों मामलों में पुलिस की काफी किरकिरी हुई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रिपल मर्डर केस का खुलासा, फिसड्डी साबित हुई नोएडा पुलिस