DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परवान नहीं चढ़ रही है स्वान योजना

सूचनाओं को त्वरित गति से तहसील स्तर पर उपलब्ध कराकर विकास कार्यो में तेजी लाने की सोच को लिये केंद्र सरकार की स्टेट वाईड एरिया नेटवर्क (स्वान) योजना परवान चढ़ती नजर नहीं आ रही है। बड़कोट में स्वान योजना के नाम पर कार्यदाई संस्था ने नेटवर्क विहीन खाली भवन को तैयार कर उत्तराखंड स्थापना दिवस पर उद्दघाटन की तैयारी शुरू कर दी है। जिससे स्वान की मूल परिकल्पना ध्वस्त होती नजर आ रही है। बावजूद इसके सम्बंधित सरकारी महकमे इस ओर ध्यान देने को राजी नहीं हैं।

गौरतलब है कि स्वान योजनाओं के तहत केंद्र सरकार ने प्रत्येक तहसील स्तर पर एक ऐसे भवन को तैयार करने के लिए धन उपलब्ध कराया है। जिसमें जनरेटर, इण्टरनेट कनेक्शन, वीडीयो कांन्फ्रेशिंग हॉल जैसी सुविधायें हों और राष्ट्रीय सूचना केंद्र के माध्यम से यहां पर विकास कार्यो से सम्बंधित आंकड़े तेजी से उपलब्ध करायें जा सकें और वीडीयो कांन्फ्रेंशिंग के जरिये विकास कार्यों के लिए सीधे निर्देश व गाईड लाईन प्राप्त की जा सके।

लेकिन कार्यदाई संस्था आरईएस के गुणवत्ताविहीन व मानकों के विपरीत कार्यो ने स्वान की योजनाओं को परिकल्पना के विपरीत बना दिया है। जिसका उदाहरण बड़कोट तहसील में कांन्फेंशिंग हॉल के नाम पर खड़ा चौकोर कमरा है। जिसमें न तो नेटवर्क से सम्बंधित कोई सामग्री लगी है और ना ही विद्युत कनेक्शन उपलब्ध है और ना ही जनरेटर और खाली भवन का स्थापना दिवस पर उद्दघाटन की तैयारी कार्यदाई संस्था आरईएस कर रही है। जबकि इन सभी कार्यो के लिए केंद्र सरकार ने लगभग सवा आठ लाख की धनराशि आरईएस को उपलब्ध कराई है।

विभाग ने अप्रोच रोड और साईड डेवलपमेंट के नाम पर भारी धनराशि को ठिकाने लगाकर कार्यों की इतिश्री कर दी है व किसी तरह निर्मित योजना को तहसील को हस्तांतरित कर पल्ला झाड़ने क फिराक में है। इस संदर्भ में जब उपजिलाधिकारी बड़कोट डॉ मेहरबान सिंह विष्ट ने जानकारी चाही गई, तो उन्होंने कहा कि आरईएस द्वारा उन्हें स्वान के तहत निर्मित भवन के उद्दघाटन की जानकारी दी गई है, लेकिन अभी तक भवन अपूर्ण है।

इसमें किसी भी तरह के न तो कनेक्शन हुये हैं और ना ही आरईएस के पास यह जानकारी है कि यह कनेक्शन किस तरह और किसके नाम होने हैं और किसे इन कनेक्शनों के बिलों का भुगतान करना है। जबकि दुसरी ओर आरईएस के अवर अभियंता रॉय का कहना है कि भवन का मानकों के अनुरूप बनाया गया है, लेकिन इस बारे में वे कोई भी संतोषजनक जबाब नहीं दे पाये कि नेटवर्कविहीन भवन का उद्दघाटन कैसे हो पायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:परवान नहीं चढ़ रही है स्वान योजना