DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काशी में अस्सी पर बनेगा सबसे बड़ा घाट

काशी में अस्सी पर सबसे बड़ा घाट बनेगा। यह घाट सिर्फ सैलानियों के लिए होगा। घाट पर टहलने के लिए शुल्क देना होगा। यहां रोज लाइट एंड साउंड का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसके लिए भी शुल्क देना होगा। घाट की सीढ़ियों पर बैठकर इस कार्यक्रम का आनंद लिया जा सकेगा। पांच करोड़ 98 लाख 59 हजार रुपये की इस योजना को केंद्रीय पर्यटन विभाग ने मंजूरी दे दी है। साठ दिनों के भीतर इस घाट का निर्माण कार्य शुरू होने की उम्मीद है।

यह सबसे बड़ा घाट अस्सी और संत रविदास घाट के बीच होगा। यह 270 मीटर लंबा होगा। काशी में इस समय सबसे बड़ा घाट है संत रविदास घाट। इसकी लंबाई 180 मीटर है। नए घाट का निर्माण करेगा सिंचाई विभाग का बंधी प्रखंड। देसी-विदेशी पर्यटकों के लिए बनने वाले इस घाट पर लाइट एंड साउंड की व्यवस्था करने पर एक करोड़ 22 लाख 56 हजार रुपये खर्च होंगे।

घाट के निर्माण पर 4 करोड़ 36 लाख 87 हजार रुपये खर्च होंगे। सीटिंग प्लाजा, चेंजिंग रूम और हरियाली आदि पर खर्च होंगे 39 लाख 15 हजार रुपये। पर्यटकों की सुविधा को ध्यान में रखकर बनाए जाने वाले इस घाट के लिए केंद्रीय पर्यटन विभाग ने मंजूरी दे दी है। बंधी प्रखंड के अधिशासी अभियंता हरेंद्र कुमार ने बताया कि इस घाट के लिए शीघ्र ही धन अवमुक्त होने की उम्मीद है।

संत रविदास घाट से अस्सी घाट तक बनने वाले घाट की कई विशेषताएं होंगी। यहां काशी की संस्कृति पर आधारित लाइट एंड साउंड के कार्यक्रम की व्यवस्था की जाएगी। इस कार्यक्रम के जरिये काशी के महत्व को भी रेखांकित किया जाएगा। इस घाट को तीन तरफ से बंद रका जाएगा। इसके चलते घाट पर भीड़ नहीं होगी।
श्री कुमार ने बताया कि घाट पर सिर्फ वही लोग पहुंचेंगे जो शुल्क अदा करेंगे।

इस घाट का रख-रखाव नगर निगम अथवा वाराणसी विकास प्राधिकरण करेगा। यही विभाग शुल्क भी वसूलेगा। इस घाट पर लोग वाहनों से भी जा सकेंगे। घाट के टॉप प्लेटफार्म पर वाहन पार्किग की व्यवस्था की जाएगी। बंधी प्रखंड ने इसकी डिजाइन मुंबई से बनवाई है। इसका फ्रंट भी ऐसा बनाया जाएगा जो काशी की संस्कृति को प्रदर्शित करेगा। घाट का टाप प्लेटफार्म काफी ऊंचाई पर बनेगा ताकि बाढ़ आने पर भी लाइट एंड साउंड का कार्यक्रम प्रभावित न हो सके।

अभी तक बनारस में कोई ऐसा घाट नहीं है जहां पर्यटकों के मनोरंजन की सुविधा हो। इस लिहाज से भी यह घाट काफी अहम होगा। अधिशासी अभियंता ने बताया कि दिसंबर अथवा जनवरी में कार्य शुरू हो जाएगा। निर्माण कार्य शुरू करने के लिए काफर डैम बनाकर पाइलिंग का कार्य शुरू होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:काशी में अस्सी पर बनेगा सबसे बड़ा घाट