DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया में चार अरब मोबाइल फोन

दुनिया में चार अरब मोबाइल फोन

दुनिया में इस समय चार अरब मोबाइल फोन हैं जो संख्या पर्सनल कम्प्यूटर की तुलना में चार गुना अधिक है और वर्ष 2013 तक दुनियाभर में मोबाइल से होने वाले विज्ञापनों का राजस्व साढे चार अरब डालर तक पहुंचने का अनुमान है।

देश में मोबाइल फोन इंडस्ट्री से संबंधित आंकडे इकट्ठे करने वाली कंपनी (इनफोर्मेट मोबाइल इंटेलीजेंस) की आज यहां जारी तिमाही रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक उपभोक्ता कई सुविधाओं से लैस मोबाइल फोन पर अब भी सबसे अधिक समय बात करने में खर्च करता है लेकिन धीरे-धीरे इसमें कमी आ रही है।

रिपोर्ट कहती है कि हर मोबाइल उपभोक्ता एक दिन में औसतन 15 से 20 मिनट मैसेज भेजने में लगाता है जबकि मोबाइल पर चैटिंग करने की प्रवृत्ति दिन ब दिन बढ़ रही है। इसी तरह हर उपभोक्ता दिन में औसतन 40 से 45 मिनट मोबाइल पर मनोरंजक गतिविधियों का मजा लेने में बिताता है। मोबाइल पर मल्टीमीडिया और गेम खेलने की प्रवृत्ति भी बढ़ रही है।

कंपनी के अध्यक्ष केदार सोहोनी ने कहा कि मोबाइल से एक्सेस की जाने वाली वेबसाइटों में गूगल शीर्ष पर है। उसके बाद जीमेल, याहू, ऑरकुट और गेटजार का नंबर आता है। ट्रेवल एंड टूरिज्म के क्षेत्र में भारतीय रेलवे की वेबवाइट मोबाइलधारकों में सबसे लोकप्रिय है। वर्ष 2015 तक देश में इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों की संख्या 30 करोड़ तक पहुंचने की संभावना है जिससे हर क्षेत्र में एक नई क्रांति का संचार होगा।

सोहोनी ने कहा कि देश में मोबाइल फोन उपभोक्ताओं के व्यवहार और गतिविधियों पर नजर रखने का आइडिया एकदम नया है। अमेरिका में पहले से ही तीन कंपनियां इस काम में जुटी हुई हैं। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं का व्यवहार और प्रवृत्ति भांपने के लिए उनके मोबाइल में स्मार्ट मीटर नाम से एक साफ्टवेयर लोड किया जाता है जिससे मिले आंकडों के आधार पर कंपनी अपनी रिपोर्ट तैयार करती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुनिया में चार अरब मोबाइल फोन