DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शतरंज के खिलाड़ी

शतरंज के खिलाड़ी

दोस्तो, ग्रैंडमास्टर परिमाजर्न नेगी का नाम तो तुमने सुना ही होगा। अब सहज ग्रोवर भी उन्हीं की तरह शतरंज में अपने देश का नाम रोशन कर रहे हैं। 9वीं कक्षा में पढ़ने वाले सहज ग्रोवर अब देश के सबसे युवा अंतरराष्ट्रीय मास्टर बन गए हैं।  अंडर-10 विश्व चैंपियन रह चुके सहज ने अंतरराष्ट्रीय ओपन शतरंज  टूर्नामेंट में अपने से बेहतर रेटिंग वाले निकोलस क्लेरी को हराया।  इस टूर्नामेंट में सात ग्रैंडमास्टर और 8 इंटरनेशनल मास्टर हिस्सा ले रहे थे, लेकिन टूर्नामेंट में सभी की निगाहें भारत के इस युवा खिलाड़ी पर लगी हुई थीं। सहज को छठा अंतरराष्ट्रीय मास्टर नॉर्म मिलना तय हो गया।

एक माह पहले ही सहज ने कोलकाता ओपन में अपना पहला ग्रैंडमास्टर नॉर्म हासिल किया है। आईएम बनने के लिए 2400 ईलो अंक की जरूरत होती है। वह जनवरी में सहज 35 अंक पाकर आईएम बन जाएंगे। तो दोस्तो देखा तुमने, किसी भी क्षेत्र में ईमानदारी से की गई कड़ी मेहनत कभी विफल नहीं जती। तुम भी ठान लो तो जीवन में कुछ कर सकते हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शतरंज के खिलाड़ी