DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आव्रजन नियमों का फायदा उठाना चाहता था राणा: एफबीआई

आव्रजन नियमों का फायदा उठाना चाहता था राणा: एफबीआई

एफबीआई द्वारा भारत में हमले का षडयंत्र रचने के आरोप में गिरफ्तार पाकिस्तान मूल का कनाडाई नागरिक तहव्वुर हुसैन राणा अमेरिकी आव्रजन नियमों की कमियों का फायदा उठाना चाहता था।

संघीय अभियोजकों ने मंगलवार को शिकागो की अदालत को बताया कि राणा ने इस संबंध में लश्कर-ए-तैयबा के एक प्रमुख से बात करते हुए उसे और लोगों को अमेरिका में प्रवेश कराने के लिए अमेरिकी आव्रजन तंत्र की कमियों के बारे में जानकारी भी दी थी।

राणा ने जमानत की याचिका दायर करते हुए सिक्योरिटी के तौर पर अदालत के सामने 10 लाख डॉलर से ज्यादा की राशि की पेशकश की। एफबीआई ने राणा और उसके दोस्त डेविड कोलमन हेडली को लश्कर-ए-तैयबा के लिए भारत और डेनमार्क में आतंकी हमले करने का षडयंत्र रचने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

राणा के कई ई-मेल और फोन वार्ता का संदर्भ देते हुए संघीय अभियोजकों ने कहा कि राणा को न केवल आव्रजन नियमों के बारे में जानकारी थी, बल्कि वह इसकी खामियों का भी फायदा उठाना चाहता था।

राणा और लश्कर के अज्ञात प्रमुख के बीच चार सितंबर को हुई वार्ता के दौरान राणा ने उसे अमेरिका में अप्रवासी का दर्जा हासिल करने के लिए नियमों में कमियों के बारे में भी जानकारी दी थी। लश्कर के इस अज्ञात प्रमुख के नाम की जानकारी नहीं मिल पाई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आव्रजन नियमों का फायदा उठाना चाहता था राणा: एफबीआई