DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जुकाम जारी है

बदलता मौसम। सुबह-रात सर्दी, दिन भर गर्मी। मौलाना की नाक ताबड़तोड़ छींकें शूट कर रही थी। लगता था जैसे पेशावर-रावलपिंडी में तालिबानी कारगुजारी जारी हो। नाक की जमा जत्था अंदर खींच कर मौलाना ने दाढ़ी पोंछी और मिमियाते हुए बोले- ‘भाई मियां, यह दादा जी की विरासत है। वह फौज में थे, मुझे जुकाम फौजी ढंग से होता है। सीने में स्टेनगन चल रही है..नाक से बारूद बह रही है। कान में मिसाइलें दग रही हैं। हालत पाकिस्तान सरकार जैसी पतली हो रही है। बेगम ने अदरक, तुलसी, काली मिर्च और जाने क्या अल्लम-गल्लम उबाल कर पिला दिया है। कभी नाक की ढायं-ढायं रुकती है, कभी जारी। ओबामा जैसी हालत है। पाकिस्तान की मदद साढ़े तीन गुनी बढ़ा कर लड़ाकू विमान भी दे रहे हैं और भारत की पीठ पर भी हाथ धरे हैं कि तुस्सी फिकर न करो।’

आती हुई अगली छींक आधे रास्ते पर ही रोक कर लादेन मियां ने नाक पोंछी और बोले- ‘मेमने की खाल पहना देने पर चीते का बच्चा घास नहीं चरने लगता। कड़ी शर्तो के साथ पाकिस्तान को मिलेगी अमेरिकी मदद। इसे कहते हैं टीपें मार-मार कर हलवा खिलाना। मदद देंगे कड़ी शर्तो के साथ। आप कोई भी शर्त रखो शाहजी, मदद मंजूर है। इतिहास गवाह है कि पाक को हर मदद भारत में आतंकवाद फैलाने में कारगर हुई है। कहावत है कि कुत्ते की दुम बारह बरस नली में डालकर रखो, नली भले ही टेढ़ी हो जाए, दुम सीधी नहीं होगी। आज बजरिया तालिबान जो कुछ सामने आ रहा है वह पाक की अपनी करतूतों का नतीजा है। शेर याद आता है-

‘तुम ने खुद खेतों में इंसानों के सिर बोए थे..
अब जमीं खून उगलती है तो हैरां क्यों हो?’

भाई राजेन्द्र धोड़पकर का यादगार कार्टुन। एक तालिबानी आतंकवादी पाकिस्तान के फौजी अफसर से कह रहा है- ‘बढ़िया ट्रेनिंग के लिए शुक्रिया।’ ऊपर से तुर्रा यह कि पाक को सहायता देते वक्त अमेरिका कह रहा है कि हमें सुनिश्चित करना होगा कि इस मदद का बेजा इस्तेमाल न हो। आप पाकिस्तान के आतंकवादी ट्रेनिंग मदरसों में घुस कर हिसाब चेक करोगे क्या, कि खैरात के डॉलर कहां खर्च हो रहे हैं? भाई मियां, मेरे जुकाम की तरह अमेरिका की दोहरी नीति भी अभी जारी है। खुदा खैर करे। जिसके होंठों को खून का चस्का लग गया हो, वह दूध से समझौता नहीं कर सकता। मौलाना ने अपने फ्रिज को कोसा, जिसके ठंडे पानी ने नाक की यह हालत कर दी। जाते-जाते बोले- ‘मैं अभी आता हूं। तुम बहू से कह कर अदरक-लौंग वाली चाय तैयार करा कर रखो। अल्लाह उसे खुश रखे।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जुकाम जारी है