DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तनाव वाले जिलों में विदेशी चीनी नहीं उतरेगी

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिन जिलों में विदेशी कच्ची चीनी को लेकर गन्ना किसानों की नाराजगी से तनाव के हालात हैं, वहां चीनी नहीं उतारी जाएगी। यह फैसला शामली में बीते दिनों हुए किसानों के बवाल के मद्देनजर किया गया है। शासन ने गन्ना आयुक्त को किसानों की प्रतिनिधियों व आंदोलन पर उतरे संगठनों के पदाधिकारियों से बातचीत करने के लिए भेजा है।

एडीजी कानून व्यवस्था पश्चिम एके जैन ने बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने चीनी मिलों के प्रबंधकों के साथ बैठकर उनकी दिक्कतों के बारे में जानकारी ली है। चीनी का सीजन आने के कारण अब मिलों में तेज गति से काम होना है। ऐसे में कानून व्यवस्था को लेकर पैदा हो रही दिक्कतों को दूर करने की हर कोशिश की जा रही है।

श्री जैन ने बताया कि शामली को छोड़कर बाकी वेस्ट यूपी में कहीं कोई तनाव नहीं है। श्री जैन ने बताया कि जहां गन्ना किसानों में तनाव होगा, वहां विदेशी चीनी नहीं उतारी जाएगी। गौरतलब है कि गन्ना किसानों में विदेशों से महंगी चीनी मंगाने और गन्ने के सरकारी खरीद दामों को कम रखे जाने के मसले पर नाराजगी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तनाव वाले जिलों में विदेशी चीनी नहीं उतरेगी