DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेना की टीम पर रणजी में खेलने पर प्रतिबंध

सेना की टीम पर रणजी में खेलने पर प्रतिबंध

सेना की टीम सुरक्षा कारणों से जम्मू-कश्मीर के खिलाफ श्रीनगर में मंगलवार को रणजी ट्राफी मैच खेलने नहीं गई जिस पर भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने कड़ी प्रतिक्रिया करते हुए उस पर इस सत्र के लिए प्रतिबंध लगा दिया।

शेरे ए कश्मीर स्टेडियम में पांच साल बाद मैच होना था लेकिन सेना की टीम के श्रीनगर नहीं जाने से जम्मू एवं कश्मीर की टीम को चार अंक मिले। सेना की टीम के इस फैलसे पर जम्मू एवं कश्मीर क्रिकेट संघ के अध्यक्ष फारूख अब्दुल्ला बहुत नाराज थे।

अब्दुल्ला ने सेना की क्रिकेट टीम के सुरक्षा कारणों से श्रीनगर आकर रणजी क्रिकेट मैच खेलने से इंकार करने पर निराशा व्यक्त करते हुए कहा है कि सेना के इस फैसले से देश की छवि खराब होगी और वे इस मामले को प्रधानमंत्री के समक्ष ले जाएंगे।

मामले की गंभीरता को भांपते हुए बीसीसीआई ने सेना खेल नियंत्रण बोर्ड (एसएससीबी) क्रिकेट टीम को जम्मू और कश्मीर के खिलाफ श्रीनगर में प्लेट डिवीजन मैच में खेलने से इंकार करने पर इस साल की रणजी ट्राफी से प्रतिबंधित कर दिया।

बीसीसीआई सचिव एन श्रीनिवासन ने एक बयान में कहा कि सेना खेल नियंत्रण बोर्ड क्रिकेट टीम को जम्मू और कश्मीर के खिलाफ श्रीनगर में तीन से छह नवंबर तक रणजी ट्राफी प्लेट डिवीजन मैच खेलना था। उन्होंने कहा कि हालांकि, एसएससीबी ने मैच में हिस्सा नहीं लिया और अपनी क्रिकेट टीम को श्रीनगर भेजने में असमर्थता जता दी। एसएससीबी को इसलिए बीसीसीआई के घरेलू टूर्नामेंटों से संबंधित नियमों के मुताबिक रणजी ट्राफी 2009-10 सत्र में हिस्सा लेने से डीस्क्वालीफाई किया जाता है। उन्होंने कहा कि एसएससीबी के खिलाफ आगे की कार्रवाई का फैसला बीसीसीआई की कार्यकारी समिति की बैठक में किया जाएगा।

नाराज अब्दुल्ला ने कहा कि सेना के इस कदम ने प्रधानमंत्री, रक्षामंत्री और गृहमंत्री के कश्मीर की स्थिति को सामान्य बताने को बेअसर कर दिया। कुछ लोगों के निजी स्वार्थ कश्मीर में स्थिति को सामान्य नहीं होना देना चाहते। उन्होंने कहा कि मैं यह मामला भारत सरकार के पास ले जाऊंगा। हम सेना की क्रिकेट टीम का इंतजार कर रहे थे। हम उनका स्वागत करने को तैयार थे। हमें यह जानकर काफी निराशा हुई कि सेना की टीम नहीं आ रही है। यह कदम भारत की छवि खराब करेगा।

अब्दुल्ला ने कहा कि भारत सरकार क्या कर रही है। हमें यह पता लगाना होगा कि क्या सेना की टीम को यहां आने से मना किया गया है। यह घटना छोटी नहीं है। यह इससे जुड़ा है कि कश्मीर की स्थिति सामान्य है या नहीं। उन्होंने कहा कि सेना का कहना है कि कश्मीर की स्थिति सामान्य नहीं है। वे हमेशा यह कह कर हमें दुखी करते हैं ताकि वे हमेशा हमारे सर्वेसर्वा बने रहें।

सेना की टीम ने प्लेट डिवीजन के मैच में जम्मू और कश्मीर को यह कहकर वाक ओवर दे दिया था कि उसे सुरक्षा कारणों से वहां जाकर खेलने पर हिचक है। सेना के सहायक कोच जेपी पांडे ने कहा की टीम को कहा गया है कि वे जम्मू और कश्मीर के लिए रवाना नहीं हो और अगले मैच की तैयारियां करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेना की टीम पर रणजी में खेलने पर प्रतिबंध