DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगर समझौता नहीं तो बाहर से समर्थनः भुजबल

अगर समझौता नहीं तो बाहर से समर्थनः भुजबल

यह उल्लेख करते हुए कि मंत्री पद बंटवारे के मुद्दे का समाधान निकलने तक राकांपा महाराष्ट्र में कांग्रेस नीत सरकार में शामिल नहीं होगी। पार्टी के उप प्रमुख छगन भुजबल ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी नई सरकार को बाहर से समर्थन देने को तैयार है ।

भुजबल ने संवाददाताओं से कहा कि मंत्री पद बंटवारे पर मतभेदों के समाधान के प्रयास जारी हैं और हम एक या दो दिन में सकारात्मक परिणाम की उम्मीद करते हैं। लेकिन राज्य के लोग चाहते हैं कि नई सरकार का गठन तत्काल होना चाहिए, क्योंकि चुनाव परिणाम को घोषित हुए 11 दिन हो चुके हैं।

राज्यपाल एससी जमीर से मुलाकात के बाद भुजबल ने कहा कि कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए पहल करनी चाहिए। हम बाहर से समर्थन देने को तैयार हैं, लेकिन मंत्री पद बंटवारे के मुद्दे का समाधान होने के बाद हम सम्मान के साथ सरकार में शामिल होंगे।

जमीर ने कार्यवाहक मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण और भुजबल से राजभवन में अलग-अलग बैठक की। भुजबल ने कहा कि हम कांग्रेस का समर्थन करते हैं। उसे सरकार बनाने के लिए राज्यपाल को पत्र देने दीजिए, हम भी पत्र दे देंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अगर समझौता नहीं तो बाहर से समर्थनः भुजबल