DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्यूशन में भी है अच्छा करियर

ट्यूशन में भी है अच्छा करियर

आपकी योग्यता का सबसे बड़ा नुकसान और अपमान तब होता है, जब आप खाली होती हैं, क्योंकि खाली रहने से आदमी अन्दर से खोखला हो जाता है, जो ज्ञान के लिए घातक है। अच्छी पढ़ी-लिखी होने के बावजूद आज लगभग सत्तर प्रतिशत शादीशुदा महिलाएं केवल गृहिणी बन कर रह जाती हैं। इन शादीशुदा महिलाओं के सामने सबसे बड़ी समस्या होती है कि आखिर वे नौकरी न करें तो ऐसा कौन-सा काम करें, जिससे उनकी पढ़ाई-लिखाई का सदुपयोग होने के साथ-साथ कुछ अर्निंग भी हो जाए।

यदि आप भी इन सत्तर प्रतिशत की गिनती में आती हैं तो आप कोई ऐसा काम कर सकती हैं, जिससे इनकम तो होगी ही, आपकी योग्यता और समय का भी सही उपयोग हो जएगा। फिर चाहे वह ट्यूशन पढ़ाना ही क्यों न हो।कुछ वर्ष पहले जब ललिता पाण्डेय की शादी हुई तो कई तरह की नई जिम्मेदारियों के अतिरिक्त कुछ घरेलू मर्यादाएं उनके पैरों की बेड़ी बन गयीं।

काफी पढ़ी-लिखी होने के बावजूद अब Þश्रीमती ललिता पाण्डेय नौकरी नहीं कर सकती थीं। तब उन्होंने ट्यूशन पढ़ाने की बात सोची और नर्सरी से कक्षा आठ तक के विद्यार्थियों को घर पर ही पढ़ाने का काम शुरू कर दिया। वे कहती हैं - ‘ट्यूशन पढ़ाना बहुत अच्छा व्यवसाय है। इससे घर में रह कर भी गृहस्थी में एक सहारा मिलता है। खुद के खर्चो के लिए पति की तनख्वाह पर निर्भर नहीं रहना पड़ता। इस काम से मैं इसलिए भी बहुत खुश हूं कि मैं कुछ गरीब बच्चों को कम फीस पर और कुछ को फ्री पढ़ाती हूं। शिक्षा बांटना सबसे बेहतर काम है।’क्या आप भी श्रीमती ललिता पाण्डेय की तरह इस काम को करना पसंद करेंगी तो हम आपको बता दें कि इसके लिए आप क्या-क्या करें-

परखें अपनी योग्यता 
पढ़ाने की योजना बनाने से पहले आप अपनी योग्यता को अवश्य परख लें कि आप जिन कक्षाओं के बच्चों को पढाएंगी, क्या आप उसके योग्य हैं? यह परख यदि आपने ठीक ढंग से कर ली तो समझो आप चालीस प्रतिशत सफल हो गयीं।

अध्ययन भी करें
चाहे आपकी अपने विषयों पर कितनी भी पकड़ क्यों न हो, अध्ययन जरूर करें, खासतौर से उन किताबों का, जो आप पढ़ाने जा रही हैं। इससे आपको कम से कम तीन फायदे होंगे-पहला, आपकी याद्दाश्त बढ़ेगी। दूसरा, आपका विश्वास जगेगा और तीसरा, आप बिना किताब के भी पढ़ा सकेंगी। इन सभी फायदों के अतिरिक्त निरन्तर अध्ययन से विद्याíथयों की नजर में आप एक अच्छी अध्यापिका सिद्ध हो सकेंगी।

व्यवस्था
आप जहां रहती हैं, वहीं आसपास या उसी घर के किसी एक खाली कमरे में एक कुर्सी-मेज और कुछ बैंचें डाल कर पढ़ाने की व्यवस्था कर सकती हैं। यदि छोटे बच्चों को पढ़ाना चाहती हैं तो कमरे के फर्श पर भी दरी आदि बिछा कर पढ़ा सकती हैं। बस ध्यान इस बात का रहे कि कमरे में पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था हो और आसपास शोरगुल न हो।

आसपास करें सम्पर्क
जब ये सारी औपचारिकताएं आप पूरी करने में सक्षम हों, तब यह जरूरी है कि आप अपने आसपास के घरों में तथा स्कूल के बच्चों से सम्पर्क करें और उन्हें बताएं कि आप ट्यूशन पढ़ा रही हैं। यहीं से शुरू होगा आपका सफर।

समय का निर्णय 
आप एक गृहिणी हैं, अत: घर के अनेक काम आपके ऊपर होंगे। ऐसे में कोशिश करें कि खाली वक्त मिलते ही घर के काम निपटा लें, क्योंकि ट्यूशन वाले समय में आप कुछ और करेंगी तो आप अच्छी अध्यापिका का रोल नहीं निभा सकेंगी। अत: हर काम का समय नियुक्त कर लें, ताकि ट्यूशन प्रभावित न हो।

लागत
ट्यूशन एक ऐसा प्रोफेशन है, जिसमें खर्च न के बराबर है। अगर आपको फर्नीचर बनवाना पड़ा और किराये का मकान है तो भी चार-पांच हजार में यह काम शुरू हो सकता है, अन्यथा तो सौ-पचास रुपये महीने का खर्च है।

आय 
यह आपकी मेहनत, पढ़ाने और बच्चों की संख्या पर निर्भर है कि आपकी मासिक आय क्या हो सकती है। फिर भी आमतौर पर दो-तीन हजार रुपये महीने तो बड़े आराम से कमा सकती हैं। यदि अच्छे स्तर पर आप ट्यूशन को वाकई एक प्रोफेशनल की तरह शुरू करती हैं तो दस-पन्द्रह हजार से पच्चीस-तीस हजार रुपये मासिक अकेले कमा सकती हैं।

क्या करें
शुरू में एक-दो बच्चे भी मिलें तो पढ़ाना शुरू कर दें।
अपनी पर्सनेलिटी का ध्यान रखते हुए पद-गरिमा बनाए रखें, ताकि बच्चे आपकी टीचर वाली छवि को मानें।
हर दिन बच्चों के कार्य को चैक करें।
हो सके तो बच्चों के स्कूल वर्क की भी जनकारी रखें, जिससे आप उनकी परीक्षा की सही समय पर पूरी तैयारी करा सकें।
सप्ताह के अंत में पढ़ाये हुए चैप्टर्स के हिसाब से टैस्ट जरूर लें।
बच्चों में आत्मविश्वास बढ़ायें।

क्या न करें
पढ़ाते समय घरेलू काम कतई न करें।
सब्जेक्ट से हट कर व्यर्थ की बातों पर चर्चा न करें।
चिड़चिड़ेपन को खुद पर हावी न होने दें।
बच्चों को जरूरत से ज्यादा प्रताड़ित न करें।
ल्लबच्चों में किसी विषय को लेकर हौवा न बनाएं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्यूशन में भी है अच्छा करियर