DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा में वर्ल्ड विंडो बना नोएडा

शहर में शिक्षा की तस्वीर तेजी के साथ बदल रही है। राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय तकनीकि व प्रबंधन शिक्षण संस्थानों के नोएडा में पैर जमाने से न केवल शहर का रुतबा बढ़ा है, बल्कि छात्रों को भी क्वालिटी एजूकेशन मिल रही है।

आईआईटी, आईआईएम व आईआईटीएम जैसे मशहूर शिक्षण संस्थानों के संपर्क में छात्र यहां पर अपना भविष्य संवारने का प्रयास कर रहे हैं। इससे शहर में संचालित करीब 120 आईटी कंपनी व कॉल सेंटर्स एक्जीक्यूटिव को पढ़ाई का मौका मिलने लगा है। आईटी सिटी में काम करने वाले हजारों दिग्गज इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (आईआईएम), लखनऊ के नोएडा कैंपस में अध्ययन कर रहे हैं।

सेक्टर-62 स्थित आईआईएम कैंपस में डब्लूएमपी, आईपीएमएक्स, एमडीपी व जीएमपीडी के दो बैच निकल चुके हैं। देश के अग्रणी प्रबंधन शिक्षण संस्थान में कंपनी एक्सीक्यूटिव के अलावा रिटायर्ड डिफेंस ऑफिसर्स के लिए भी प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं। पिछले दिनों कैंपस में हुए दीक्षांत समारोह के दौरान संस्थान के निदेशक डॉ. देवी सिंह ने बताया कि वचरुअल क्लास बनाई जा रही है। इन क्लासिस के जरिए हम लखनऊ और नोएडा को जोड़ेंगे। रिलाइंस के पास इसका कांटेक्ट है। डिस्टेंस के कोर्स शुरू करने के लिए यह जद्दो-जहद की जा रही है।

आईआईटी कानपुर एजूकेशन हब में अपना विस्तार कर रही है। संस्थान के निदेशक डॉ.गोविंद ढांडे ने बताया कि नोएडा कैंपस में छात्रों को उन तकनीकों से अपडेट करवाने की दिशा में काम किया जाएगा, जो आने वाले समय में कंपनियों के लिए महत्वपूर्ण होंगी। यूपीटीयू से संबद्ध चालीस से अधिक कॉलेज एजूकेशन हब में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। इंजीनियरिंग, एमबीए, एमसीए सहित अन्य पाठ्यक्रमों के लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश से छात्र इन कॉलेजों में आकर अपना भविष्य संवारते हैं। हालांकि काउंसलिंग लेट होने से इस साल सत्र लेट होने की संभावना गहराने लगी है। लेकिन, आईटी सिटी होने के चलते छात्रों का रुझान फिलहाल कम होता नजर नहीं आ रहा है।

सेक्टर-62 स्थित जयपुरिया के निदेशक डॉ. जेडी सिंह बताते हैं कि संस्थान की ओर से विदेशी विवि व शिक्षण संस्थानों से टाईअप किया जा रहा है। जिससे छात्र पाठ्यक्रम के दौरान उन संस्थानों से आने वाली फैकल्टी व दूसरे छात्रों से रूबरू हो सकें। एजूकेशन एक्सचेंज प्रोग्राम के जरिए वे न केवल अपडेट होते हैं, बल्कि विदेशों में पढ़ाई के कई तरीकों से भी वे परिचित होते हैं। आने वाले समय में एजूकेशन हब इंटरनेशनल लेविल पर अपनी एक अलग पहचान बना लेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिक्षा में वर्ल्ड विंडो बना नोएडा