DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोड़ा के खिलाफ छापों का ब्योरा चाहती है झारखंड सरकार

झारखंड सरकार का सतर्कता विभाग राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा के खिलाफ मारे गए छापों के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय से संपर्क  करेगा।


  सतर्कता विभाग के एक अधिकारी ने बताया, कोड़ा और उनके सहयोगियों विनोद सिन्हा व संजय चौधरी के खिलाफ मारे गए छापों के बारे में जानकारी पाने के लिए हम आयकर और प्रवर्तन निदेशालय से सहायता मांगेंगे। उनका नेटवर्क काफी विशाल तथा कई राज्यों और देशों में फैला है। सतर्कता विभाग कोड़ा की संपत्तियों की भी जाँच कर रहा है। विभाग ने भी दो महीने पहले कोड़ा और तीन पूर्व मंत्रियों के खिलाफ आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति अर्जित करने की शिकायत दर्ज कराई थी। विभाग ने कोड़ा और तीन पूर्व मंत्रियों के आवासों पर छापे मारे थे, जिनमें बड़ी मात्रा में आभूषण, भूमि खरीद के कागजात और अन्य दस्तावेज बरामद हुए थे।


  विभाग ने पिछले महीने इन सभी के खिलाफ नोटिस भी जारी किया था। अधिकारी ने कहा, राज्य सतर्कता विभाग की अपनी सीमा है। कोड़ा और उनके सहयोगियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले की जाँच में केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई), आयकर, प्रवर्तन निदेशालय और अन्य एजेंसियों के सहयोग की जरूरत है ताकि विदेशी निवेश के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके। 


   आयकर विभाग के अधिकारियों ने शनिवार को आठ विभिन्न शहरों में कोड़ा और उनके दो सहयोगियों के 70 ठिकानों पर छापे मारे थे। अधिकारियों ने कोड़ा के रांची, जमशेदपुर, नई दिल्ली, जयपुर, कोलकाता, चाईबासा और लखनऊ में स्थित आवासों पर छापे मारे। अकेले रांची में ही 25 जगहों पर छापे मारे गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोड़ा के खिलाफ छापों का ब्योरा चाहती है झारखंड सरकार