DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी संरक्षण में हो रही खाद की कालाबाजारी : भाजपा

भारतीय जनता पार्टी ने बसपा सरकार पर सरकारी संरक्षण में खाद की कालाबाजारी कराने का आरोप लगाते हुए कहा है कि राज्य में खाद की कोई कमी न होने का सरकारी दावा झूठा है। हर जिले में खाद के लिए मारामारी मची है। किसानों को रबी की बुवाई के लिए खाद नहीं मिल रही है।  खाद की माँग कर रहे  किसानों को पुलिस की  लाठी खानी पड़ रही है।

पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सोमवार को यहाँ पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि सरकारी अधिकारी ग्रामस्तर की छोटी दुकानों पर तो छापा डालने की कार्रवाई कर रहे हैं लेकिन बड़े डीलरों को संरक्षण दे रहे हैं। छोटे डीलरों को मिलने वाली खाद में भी भारी घपला है। उन्हें दो सौ से तीन सौ रुपए प्रति बोरी ब्लैक में खाद मिल रही है। उन्होंने कहा कि किसान खाद के लिए समितियों के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन खाद नहीं मिल रही है। डीएपी खाद ब्लैक में दोगुनी कीमत पर बिक रही है।

श्री दीक्षित ने बस्ती जिले का हवाला देते हुए कहा कि वहाँ किसानों पर लाठियाँ बरसाई गईं। औरैया जिले में मिलावटी खाद का धंधा सरकारी संरक्षण में चल रहा है। गोण्डा में खाद आवंटित तो हो गई मगर वितरण नहीं हो रहा है। हमीरपुर, महोबा, उन्नाव, फतेहपुर, झाँसी, इटावा, बहराइच, फरुखाबाद, बांदा, रायबरेली, बाराबंकी आदि जिलों में किसान खाद के लिए मारे-मारे घूम रहे हैं और आन्दोलित हैं। सरकार संवेदनहीन है। कोरी बयानबाजी कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारी संरक्षण में हो रही खाद की कालाबाजारी : भाजपा