DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ममता जी सिर्फ मुआवजा नहीं नौकरी भी दें : बेनी

पूर्व केन्द्रीय मंत्री व गोण्डा के कांग्रेस सांसद बेनी प्रसाद वर्मा ने रेल मंत्री ममता बनर्जी से कहा है कि उनके जनपद के चकरसूल स्थित कल्याणपुर रेलवे क्रासिंग पर हुए ट्रेन हादसे के मृतक और गंभीर रूप से धायलों के परिवारों को सिर्फ मुआवजा नहीं बल्कि रेलवे में नौकरी भी दें।

उन्होंने कहा कि रेलवे अपना नियम बदले और उत्तर प्रदेश की हर मानव रहित रेल क्रासिंग पर गेट बनवा कर गेटमैन की तैनाती की जाए। श्री वर्मा ने चकरसूल में अवैध बालू खनन पर तत्काल पाबन्दी लगाने की भी माँग जिला प्रशासन से की है। उन्होंने घोषणा की कि रेल हादसे का मसला 19 नवम्बर से शुरू हो रहे संसद के सत्र में उठाया जाएगा।

फैजाबाद के जिला चिकित्सालय में सोमवार को अपराह्न् पहुँचे गोण्डा के सांसद श्री वर्मा ने इमरजेंसी, ईएनटी और स्वाइन फ्लू वार्ड में बनाए गए विशेष कक्षों में भर्ती गोरखपुर-अयोध्या पैसेन्जर ट्रेन दुर्घटना के शिकार घायलों का हाल-चाल लिया। इस दौरान उन्होंने घायलों से अस्पताल में उपलब्ध चिकित्सा सेवा और रेलवे की ओर से दी जाने वाली आर्थिक मदद के बारे में भी पूछा।

सांसद ने प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आर.पी. पाण्डेय को हिदायत दी कि घायलों के इलाज में कोताही न बरती जाए। पूर्व केन्द्रीय मंत्री सभी वार्डो में गए और एक-एक मरीज से मिले। परिवारी जनों को भी ढाँढ़स बँधाया। इसके बाद संवाददाताओं से बातचीत में श्री वर्मा ने कहा कि अन्य राज्यों में रेल दुर्घटना होती है तो रेल मंत्री ममता बनर्जी मृतकों के परिवार के एक-एक सदस्य को रेलवे में नौकरी देती हैं लेकिन उत्तर प्रदेश के रेल हादसों में इसकी अनदेखी की जाती है।

उन्होंने कहा कि कल्याणपुर रेल हादसे के सभी 15 मृतकों और गंभीर घायलों जो जीवन भर के अपंग हो गए उनके परिवार के एक-एक सदस्य को रेलवे में नौकरी दी जाए। उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा रेल हादसे उत्तर प्रदेश में होते हैं। इसकी वजह है इसी राज्य में सबसे ज्यादा मानव रहित रेलवे क्रासिंग का होना। ऐसे में जान की कीमत को समझते हुए रेलवे नियम बदल कर फाटक बनवाए और गेटमैन तैनात करे। सांसद ने रेल हादसे के लिए रेलवे और राज्य सरकार दोनों को जिम्मेदार ठहराया।

उन्होंने कहा कि यदि अयोध्या के कार्तिक मेले के लिए स्पेशल ट्रेन चलती तो इस पैसेन्जर ट्रेन में इतनी भीड़ न होती और बड़े पैमाने पर जान-माल के नुकसान को रोका जा सकता था। इसी तरह हादसे के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि प्रदेश के एक मंत्री के संरक्षण में चकरसूल में अवैध बालू खनन हो रही है। इसी बालू खनन में शामिल ट्रक हादसे की वजह बना। इसकी जाँच कराकर खनन को तत्काल रोका जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ममता जी सिर्फ मुआवजा नहीं नौकरी भी दें : बेनी