DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उप्र में 144 मिलावटखोर जेल भेजे गए

उत्तर प्रदेश खाद्य एवं औषधि नियंत्रण विभाग ने गत 09 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक अपमिश्रित दूध एवं दुग्ध, घी एवं तेल के निर्माण से सम्बंधित इकाइयों के विरुद्ध चलाए गए विशेष अभियान के दौरान 144 मिलावटखोर जेल भेजे है।

यह जानकारी विभाग के प्रमुख सचिव देश दीपक वर्मा ने रविवार को दी। उन्होंने बताया कि विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि प्रत्येक जिले के अधिकारी इस महीने मिलावटखोरों के विरुद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे।

वर्मा ने यह भी निर्देश दिए हैं कि अभियान के दौरान जिस खाद्य सामग्री के नमूने संकलित किए गए हैं उनका विश्लेषण कराया जाए और यदि मिलावट प्रकाश में आए तो नियमानुसार कठोर कार्यवाही की जाए।

वर्मा ने बताया कि विशेष अभियान के अन्तर्गत राज्य में 1677 निरीक्षण 760 छापे मारे गए तथा 1864 नमूने एकत्रित किए गए हैं और 104 प्राथमिकी धारा 272-273 में दर्ज कराई गई है।

अभियान के अन्तर्गत दो लाख चार हजार 876 लीटर नकली तेल-वनस्पति 5174 किलोग्राम नकली घी, 21247 किलो नकली खोया एवं 20612 किलो दुग्ध से बनी नकली मिठाई तथा एक लाख दस हजार 939 किलो अन्य खाद्य पदार्थ जब्त किए गए है।

उन्होंने बताया कि संदेह के आधार पर 15 करोड 42 लाख छह हजार 520 रुपए मूल्य की अपमिश्रित खाद्य सामग्री जब्त की गई है। इसके अतिरिक्त नकली दूध खोया तथा तम्बाकू निर्माण सामग्री एवं मशीनें भी सीज की गई हैं। उन्होंने यह भी बताया कि वाराणसी एवं मेरठ मण्डल तथा जनपद वाराणसी बुलंदशहर एवं मुजफ्फरनगर जिलों में अच्छा कार्य हुआ है।

वर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर खाद्य एवं औषधि नियंत्रण विभाग के मुख्यालय में एक कण्ट्रोल रुम खोला गया है जिसमें आम जनता मिलावट में संलिप्त लोगों एवं संस्थाओं के विरुद्ध गोपनीय सूचनाएं उपलब्ध करा सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उप्र में 144 मिलावटखोर जेल भेजे गए