DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिलेरी की खरी-खरी

ऐसा कम ही होता है कि किसी देश की यात्रा पर गए महत्वपूर्ण राजनेता ने अपने मेजबानों को खरी-खरी सुनाई हो। पाकिस्तान की यात्रा पर गईं अमेरिका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने ऐसा ही किया और जैसी कि खबरें हैं, उससे न केवल उनके मेजबान सकते में हैं, बल्कि खुद उनके देश में भी आश्चर्य का माहौल है।

खबरें यह बताती हैं कि लाहौर विश्वविद्यालय में छात्रों के साथ बातचीत के दौरान कई छात्रों ने पाकिस्तान के साथ अमेरिका के व्यवहार को लेकर शिकायतें कीं, उससे वे नाराज हुईं और बाद में दूसरी बैठकों में यह नाराजगी जाहिर हुई। हालांकि यह भी संभव है कि वे घर से ही सोच कर चली हों कि पाकिस्तानियों को तमाम दोस्ती और सद्भाव के औपचारिक बयानों के अलावा यह भी बताना जरूरी है कि अमेरिकी उनके बारे में क्या सोचते हैं।

दूसरी संभावना ज्यादा लगती है। पाकिस्तान में इन दिनों अमेरिका विरोधी माहौल जोरों पर है। इसकी वजह उग्रवादियों और आतंकवादियों के हमलों की वजह से पाकिस्तान में व्याप्त असुरक्षा और अस्थिरता है। पाकिस्तानियों को लगता है कि आतंकवाद विरोधी लड़ाई दरअसल अमेरिका की लड़ाई है और पाकिस्तान बेवजह इस लड़ाई का शिकार है। या पाकिस्तानियों को शिकायत है कि इस लड़ाई में उन्हें जो कीमत चुकानी पड़ रही है, उसके मुकाबले अमेरिकी सहायता बहुत कम है।

दूसरे, पाकिस्तानियों के मन में यह पक्का विश्वास है या वे यह प्रकट करना चाहते हैं कि उनकी समस्याओं के पीछे भारत है। क्लिंटन ने इस यात्रा में जो मुद्दे पाकिस्तानियों के सामने साफ शब्दों में रखे उसमें एक यह था कि पाकिस्तान आतंकवादियों को शरण देता रहा है, दूसरा मुद्दा उन्होंने यह समझाया कि पाकिस्तान को अपनी अर्थव्यवस्था खुद संभालनी चाहिए, अमेरिकी सहायता की अपनी सीमाएं हैं और उन्होंने पाकिस्तानियों को भारत के प्रति लगातार शत्रुता और संदेह से बाहर आने को कहा। उनकी तमाम बैठकों में जहां-जहां भारत का जिक्र आया, उन्होंने या तो प्रतिवाद किया या उसकी उपेक्षा की। 

कश्मीर के मामले में उन्होंने अमेरिकी मध्यस्थता से साफ इंकार किया। ऐसा लगता है कि अफगानिस्तान पाकिस्तान की परिस्थितियों से अमेरिका सरकार परेशान है और उसने यह तय किया है कि पाकिस्तानियों के साथ कुछ ज्यादा सख्ती बरती जाए। हिलेरी क्लिंटन ने जो कुछ कहा, भारतीय पहले से कहते आ रहे हैं और जाहिर है कि अमेरिकी भी यह बात जानते होंगे। लेकिन अब हिलेरी क्लिंटन की साफगोई से काफी सारे समीकरण बदलेंगे। ये बदलाव देखना दिलचस्प होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हिलेरी की खरी-खरी