DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपीएस का चुनाव

भले ही आप अपने कंप्यूटर कंपोनेंट पर जितना खर्च करते रहें, फिर भी यूपीएस के बिना आपके कंप्यूटर पर खतरा मंडराता रहता है। इसलिए जरूरी है कि बिना यूपीएस के कंप्यूटर का इस्तेमाल न करें। यह ऐसी डिवाइस है जो कंप्यूटर को बिना बाधित इलेक्ट्रिसिटी की सप्लाई पहुंचाती है।

अगर आपके पीसी की पावर सप्लाई एकदम से चली जाए तो हार्ड ड्राइव और रेम खराब होने की आशंका रहती है। साथ ही मदरबोर्ड भी इसकी वजह से खतरे में पड़ सकता है। यूपीएस का काम इसी खतरे को कम करना है। इसलिए यह भी जरूरी है कि यूपीएस का चुनाव आप गौर से करें।

- स्टेंडबाई : इस तरह का यूपीएस सारा लोड बैटरी को स्विच कर देता है। स्विचओवर करने का रिस्पांस टाइम 2 से 10 मिनट होता है। ज्यादातर एसएमपीएस का होल्ड अप टाइम 16 मिनट से कम होता है। इस तरह के यूपीएस कांपेक्ट और ज्यादातर वेंडरों के पास से आप पा सकते हैं।

- ऑनलाइन यूपीएस : ऐसे यूपीएस महंगे पड़ते हैं।

- क्षमता : जब यूपीएस की क्षमता की बात होती है तो ध्यान रखें कि कंवजर्न फैक्टर 0.7 हो। ऐसे में 1000 वीए (वोल्ट एंपियर) जिसका आउटपुट 700 वाट हो, वाला यूपीएस प्रयोग करना चाहिए।

- बैकअप टाइम : ज्यादातर लोग यूपीएस की खरीदारी बैकअप टाइम के आधार पर करते हैं, जो बिलकुल गलत है। बैटरी बैकअप पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करता है कि आपका सिस्टम कितनी ऊर्जा ले रहा है। सिस्टम जितना शक्तिशाली होगा, वह ऊर्जा की खपत उतनी ज्यादा करेगा। बैकअप टाइम का इस्तेमाल सावधानी पूर्वक करना चाहिए।

- अपने सिस्टम की सारी फाइलों को सेव करने के बाद इसे बंद कर दें और उस यूपीएस के अंतिम बैकअप टाइम का इंतजार न करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपीएस का चुनाव