DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीनी जलाकर किसानों ने जताया रोष

रविवार को उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के शामली रेलवे स्टेशन पर गन्ने मूल्य की मांग को लेकर आन्दोलनरत भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के कार्यकर्ताओं ने ब्राजील से आई कच्ची चीनी को जला कर विरोध प्रदर्शन किया।

 पुलिस के अनुसार कल देर रात शामली स्टेशन पर एक मालगाडी ब्राजील से आई करीब 26 हजार क्विंटल कच्ची चीनी लेकर पहुंची। कच्ची चीनी की भनक लगते ही भाकियू नेता राकेश टिकैत के नेतृत्व में कार्यकर्ता रेलवे स्टेशन पर पहुंच गए और मालगाड़ी का घेराव कर लिया। भाकियू कार्यकर्ता कच्ची चीनी मिल को मिल में भेजने का विरोध करने लगे और चीनी लादने के लिए आए ट्रकों को वापस भेज दिया। किसानों ने आज शामली स्टेशन पर विदेशी कच्ची चीनी के कुछ बोरों को जलाकर विरोध जताया।

 टिकैत की मांग की थी वह किसी भी कीमत पर विदेशी चीनी को बजाज चीनी मिल नहीं जाने देगें। जिला प्रशासन और भाकियू के बीच सहमती बनी की ब्राजील से मंगवाई गई करीब 26 हजार क्विंटल कच्ची चीनी को वापस भेजा जाए तभी मामला शांत होगा। 

 इस बीच टिकैत ने कहा कि चीनी मिल विदेशों से महंगी चीनी आयात कर रही है लेकिन किसानों को लाभकारी मूल्य देना नहीं चाहती हैं। उन्होंने कहा कि भाकियू किसी भी कीमत पर विदेशों की कच्ची चीनी को मिलों में नहीं जाने देंगें। उन्होंने कहा कि किसानों की हालत खराब है और सरकार को कोई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि जब तक किसानों को गन्ने का लाभकारी दाम सरकार घोषित नहीं करेगी आन्दोलन जारी रहेगा। गौरतलब है कि भाकियू गन्ने के दाम 280 रुपए प्रति क्विंटल किए जाने की मांग को लेकर पिछले कई दिनों से आन्दोलन कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चीनी जलाकर किसानों ने जताया रोष