DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत-ओमान युद्धाभ्यास में गोरखपुर के जाबाजों ने लिया हिस्सा

भारतीय वायु सेना एवं ओमान की रायल वायु सेना के संयुक्त वायु युद्धाभ्यास ‘पूर्वी आसेतु मोर्चा बंदी’ में वायु सेना केन्द्र गोरखपुर के 90 जांबाज वायु सैनिकों, अधिकारियों एवं छह लड़ाकू विमानों ने भी हिस्सा लिया। युद्धाभ्यास से लौटने के बाद गोरखपुर केन्द्र के एयर आफिसर कमाण्डिंग एयर कमोडोर एचकेजेएस सोखी वीएसएम ने युद्धाभ्यास में शामिल जांबाजों का लघु समारोह में स्वागत किया। अभियान का नेतृत्व मध्य वायु कमान ने किया था।


ओमन के रायल वायुसेना के थुमैट्र हवाई अड्डा पर 22 से 29 अक्तूबर तक आयोजित युद्धाभ्यास के बाद वहाँ के वायुसेना थूमैट्र कमाण्डर एयर कमोडोर मैटर अल ओबैदानी ने भारतीय वायु सैनिकों की प्रशंसा में उन्होंने कहा कि भारतीय वायु सेना के जांबाजों ने हमारे वायु योद्धाओं के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंेने कहा कि भारतीय योद्धाओं ने अपने कार्य व्यवहार से सिद्ध कर दिया है कि भारतीय वायु सेना पूरी तरह से पेशेवर और अनुशानिक सेना है।


द्विराष्ट्रीय सम्बन्धों पर चर्चा करते हुए एयर कमोडोर के ओबेदानी ने कहा कि एक लम्बे अर्से से पूर्वी देशों से जो दोस्ताना रिश्ते खत्म हो गए थे। पुन: कायम करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता थी। इसी परिप्रेक्ष्य में हमने पहली बार इस युद्धाभ्यास का कार्यक्रम बनाया जबकि अब तक  हमारा युद्धाभ्यास जीसीसी एवं पश्चिमी देशों के साथ ही होता रहा है। आने वाले समय में हम भी भारत पहुँचकर  संयुक्त रुप से युद्धाभ्यास करेंगे।

एयर कमोडोर सोखी ने कहा कि युद्धाभ्यास के दौरान हमारी भारतीय वायुसेना ने उदाहरणीय व्यवसायिकता व अनुशासन का प्रदर्शन किया है। इसके लिए हमारे जांबाजों को ओमन सहित अन्य देशों की वायु सेना से सराहना मिली है।

भारतीय वायु सेना दल का नेतृत्व कर रहे ग्रुप कैप्टन वीवी डेडगांवकर ने युद्धाभ्यास के दौरान समुचित सुविधाएँ उपलब्ध कराने के लिए ओमन रायल वायु सेना उसके अधिकारियों व सरकार को धन्यवाद ज्ञापित किया है। युद्धाभ्यास के दौरान भारतीय वायु सेना चालक ने यान 11-78 के   द्वारा आकाश में ही ईधन भरने का प्रदर्शन ही नहीं किया बल्कि भारत वापसी में आकाश में ही विमानों में ईधन भी भरा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत-ओमान युद्धाभ्यास में गोरखपुर के जाबाजों ने लिया हिस्सा