अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपहरण की नीयत से उठाया था छात्रा को

पाटलिपुत्र गोलंबर स्थित मैदान के पास से शुक्रवार की शाम दो अपराधियों ने छात्रा प्रीति कुमारी को अपहरण की नीयत से उठाया था। अपहर्ताओं ने घर के बाहर खेल रही महेश शर्मा कीड्ढr छोटी पुत्री प्रीति को नशा युक्त रुमाल सुंघा कर वाहन पर बैठा लिया तथा कुर्ाी की ओर चंपत हो गए। होश आने के बाद जब प्रीति की पारिवारिक पृष्ठभूमि का पता चला तो उन्हें लगा कि रौंग नम्बर डायल हो गया। उसके बाद देर रात अपराधी कुर्ाी होली फैमिली अस्पताल के पीछे एक झाड़ी में उसे छोड़कर फरार हो गए। इसी बीच प्रीति वहां से निकलकर डोमखाना पहुंची और रोने लगी। मासूम के रोने की आवाज सुनकर किसी ने उससे नाम-पता पूछा पर वह कुछ नहीं बता पाई। इसी बीच एक साधु प्रीति को अपने घर ले गया। सुबह होने के बाद परेशान महेश ने रिक्शा पर लाउडस्पीकर लेकर बच्ची को खोजना शुरू किया। शाम में जब वे कुर्ाी डोमखाना के पास पहुंचे तो स्थानीय लोगों ने बच्ची के बार में बताया। महेश को देखते ही प्रीति उसके गले से लिपट गई और सारी बातों से अवगत करा दिया। प्रीति ने बताया कि अपराधियों ने उसके साथ मारपीट नहीं की। होश आने के बाद अपराधियों ने उससे पूछताछ की तथा छोड़ दिया। अपराधी कौन थे, उसे नहीं पता। बहरहाल प्रीति के घर लौटने पर उनके परिानों में खुशी की लहर दौड़ गई। अपर थानाध्यक्ष राजेन्द्र पासवान ने बताया कि परिानों ने थाने में प्रीति के मिलने की सूचना दी है। महेश ने इस बाबत थाने में बेटी के गायब होने का सनहा शुक्रवार की रात दर्ज कराया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अपहरण की नीयत से उठाया था छात्रा को