DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जनता को गुमराह कर रहे हैं नीतीश : लालू

राजद सुप्रीमो और रलमंत्री लालू प्रसाद यादव ने सभी अटकलों को समाप्त करते हुए साफ कर दिया कि उन्होंने यूपीए का दामन नहीं छोड़ा है। लालू प्रसाद यादव चंडीगढ़ में राजद उम्मीदवार हाफिा अनवारुल हक के पक्ष में सोमवार को सभा को संबोधित कर रहे थे।ड्ढr ड्ढr अपने संबोधन में उन्होंने नीतीश कुमार पर निशाना साधा और कहा कि वे बिहार की जनता को गुमराह कर रहे हैं। लुधियाना में राजद की सभा में नरंद्र मोदी से हाथ मिलाने की घटना पर तीखी टिप्पणी करते हुए लालू का कहना था कि पहले तो नीतीश ने मोदी को बिहार में नहीं घुसने देने की बात कही थी और अब हाथ में हाथ मिलाकर घूम रहे हैं। इसके साथ ही वह ये कहने से भी नहीं चूके कि बिहार में नीतीश का पत्ता उन्होंने पासवान के साथ मिलकर साफ कर दिया है और अब जदयू बाउंड्री के पार है। उन्होंने लगे हाथों यह दावा भी कर दिया कि 16 मई के बाद कांग्रेस के नेतृत्व में यूपीए गठबंधन ही सरकार बनाने जा रहा है। किसी भी तरह के तीसने मोर्चे की संभावना को सिर से नकारते हुए रलमंत्री ने यहां तक कह दिया कि देश में सिर्फ दो ही विचारधाराएं हैं। पहली विचारधारा महात्मा गांधी की है जबकि दूसरी नाथू राम गोडसे की है। कांग्रेस के साथ ही यूपीए गठबंधन को उन्होंने महात्मा गांधी का अनुयायी बताया और कहा कि देश को सही दिशा सिर्फ यही गठबंधन दे सकता है। दूसरी ओर भाजपा और राजग को गोडसे का अनुयायी करार देते हुए उनका दावा था कि जनता इसे नकार देगी। उन्होंने आडवाणी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बिहार में जिस तरह से उनकी नकली रथ यात्रा रोक दी गई थी, ठीक उसी तरह से उनका प्रधानमंत्री बनने का सपना यूपीए ने चकनाचूर कर दिया है। लालू का दावा था कि आडवाणी की कुंडली में ही प्रधानमंत्री बनना नहीं लिखा है। राजनीतिक मंच से तीखी टिप्पणियों का दौर जारी रखते हुए वरुण के बार में उन्होंने कहा कि वे अभी तीन दिन के छोकर हैं और राजनीति के बार में कुछ नहीं जानते। मोदी को उन्होंने कातिल कह कर पुकारा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जनता को गुमराह कर रहे हैं नीतीश : लालू