अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीवान : सभी दल के कार्यकर्ता ठोक रहे ताल

सीवान संसदीय क्षेत्र की चुनावी तपिश बढ़ने लगी है। हर चौक-चौराहे पर राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं। कुछ राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों के चेहर स्पष्ट हो चुके हैं, जबकि कई दलों के संभावित प्रत्याशियों पर चर्चाएं हो रही हैं। कार्यकर्ता भी इस बार के चुनाव में ताल ठोकने के लिए कमर कस चुके हैं कि इस बार हमारी बारी है। किसकी बारी है यह तो समय ही बताएगा। फिलहाल इस बार सीवान संसदीय क्षेत्र का परिदृश्य बदला सा नजर आएगा। लोग चुनावी चर्चा खुलकर करने लगे हैं। पहले ऐसा नहीं होता था। लोग कुछ बोलने से कतराते थे। चाहे इसका राजनीतिक कारण क्यों न हो? पिछले कई दिनों से सीवान में इस बात को लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज थी। भाजपा व जदयू ने दावा किया था कि इस बार वे चुनाव लड़ेंगे।ड्ढr ड्ढr भाजपा कई समारोहों में घोषणा कर चुकी थी कि कुछ भी हो जाए भाजपा ही चुनाव लड़ेगी। लेकिन जसे ही सीवान सीट जदयू के खाते में गई, भाजपाई शांत हो गए। इतना ही नहीं भाजपा कार्यकर्ताओं के अंदर मायूसी भी छा गई। पिछली बार जदयू से ओमप्रकाश यादव चुनाव लड़े थे, जो सवा लाख वोट से शहाबुद्दीन से हार गए। जदयू से टिकट लेने के लिए ओमप्रकाश यादव, विधान पार्षद शिव प्रसन्न यादव तथा हाल ही में जदयू में शामिल नेमतुल्लाह भी दौड़ में हैं।ड्ढr यह सीट राजद के कब्जे में है। यह बात अलग है कि सांसद मो. शहाबुद्दीन आपराधिक मामलों में सीवान जेल में बंद हैं। छह मामलों में एक वर्ष से लेकर उम्रकैद तक की सजा हो चुकी है। यदि कोर्ट द्वारा उनकी सजा को सस्पेंड कर दिया जाता है तो वे चुनाव लड़ सकते हैं। कानूनी अड़चन के कारण यदि वे चुनाव नहीं लड़ पाते हैं तो ऐसी स्थिति में उनकी पत्नी हिना शहाब चुनाव लड़ सकती हैं। हालांकि सांसद अपनी पत्नी को चुनाव लड़ाने के मूड में नहीं हैं। राजद कार्यकर्ताओं ने यहां तक कह दिया है कि शहाबुद्दीन नहीं तो हिना। सांसद को मनाने का जिम्मा पूर्व मंत्री अवध बिहारी चौधरी को सौंपा गया है। राजद कार्यकर्ता हिना शहाब कोप्रत्याशी बनाने के लिए उतावले हैं। रो कहीं न कहीं मीटिंग की जा रही है। भाकपा माले से पिछली बार अमरनाथ यादव खड़े थे। इस बार भी उनके दल ने उन्हें ही प्रत्याशी घोषित कर दिया है। पिछले चुनाव में वह तीसर स्थान पर रहे।बसपा ने भी अपने प्रत्याशी के रूप में पारसनाथ पाठक को चुनाव मैदान में उतारा है। हालांकि इनका चुनाव प्रचार पिछले छह माह से सीवान संसदीय क्षेत्र में चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सीवान : सभी दल के कार्यकर्ता ठोक रहे ताल