DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकिंग सुविधाओं का अभाव, भ्रष्टाचार का बढ़ता प्रभाव

किसी भी प्रदेश की आर्थिक स्थिति के सुधार में बैंकों का अहम योगदान होता है। लेकिन रिजर्व बैंक की रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश का देश की पूरे बैंकिंग व्यवस्था में कुल डिपोजिट में योगदान लगातार घट रहा है। यूपी देश के बैंकिंग सिस्टम को ज्यादा दे रहा है और ले कम रहा है।

परंपरागत उद्योगों का विकास नहीं- पूर्वी उत्तर प्रदेश विशेषकर बनारस हथकरघा उद्योग की दृष्टि से विशेष महत्व रखता है। यहां की साड़ियां अपनी कलात्मकता के कारण देश-विदेश में प्रसिद्ध हैं। साथ ही भारत की सांस्कृतिक विरासत की वे अटूट अंग भी रही हैं। रोजगार की दृष्टि से भी यह काफी महत्वपूर्ण है। असंगठित क्षेत्र में कृषि के बाद हथकरघा दूसरा सबसे बड़ा उद्योग है। यह देश के 65 लाख से भी अधिक लोगों को रोजगार देता है। अकेले उत्तर प्रदेश में 12 लाख से अधिक लोगों का जीवन इस उद्योग पर टिका है। लेकिन अब बुनकरों का यह परंपरागत व्यवसाय बुरी तरह घाटे में चल रहा है। जिसका सीधा असर बुनकरों के जीवन पर देखा जा सकता है। बुनकर रोजगार की तलाश में दूसरे शहरों को पलायन कर रहे हैं।

भ्रष्टाचार की जड़ें गहरी- उत्तर प्रदेश में गरीबों से जुड़ी हर परियोजना में भ्रष्टाचार चल रहा है। नरेगा और वृद्धावस्था पेंशन में बड़ी मात्रा में भ्रष्टाचार देखने को मिल रहा है। प्रदेश में बहुत सारी योजनाएं केवल गरीबों के लिए ही चलाई जा रही हैं परन्तु उनका हिस्सा किसकी जेब में जा रहा है, इसको देखने के लिए अभी तक कोई तंत्र विकसित नहीं किया जा सका है जिसके चलते इन योजनाओं की निगरानी नहीं हो पा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंकों का अभाव, भ्रष्टाचार का बढ़ता प्रभाव