DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोहतक में हजकां व बसपा चारों खाने चित्त

चुनाव से पहले चुनावी गठबंधन का खेल खेलने वाली हरियाणा जनहित कांग्रेस व बहुजन समाज पार्टी के सभी उम्मीदवार रोहतक जिले में चारों खाने चित्त हो गए। कलानौर में तो बसपा प्रत्याशी का नामांकन ही रद्द हो गया था। हजकां प्रमुख कुलदीप बिश्नोई ने तो अपनी राजनीतिक बल्लेबाजी रोहतक में रैली करके शुरू की थी। रिकार्ड भीड़ एकत्र करके कुलदीप ने एक बार तो कांग्रेसी खेमे में खलबली मचा दी थी। उनके अजीज रहे पूर्व मंत्री सुभाष बतरा व कृष्णमूर्ति हुड्डा ने इसमें पूरा योगदान दिया था। लेकिन बाद में वही साथ छोड़ गए थे।

रोहतक विधानसभा क्षेत्र में हजकां के योगेंद्र नाथ मल्होत्र को 83,105 वोटों में से केवल 708 वोट ही मिले। हुड्डा के हलके गढ़ी सापंला किलोई में हजकां प्रत्याशी सुरेश कुमार 1,12,510 वोटों में से केवल 674 वोट ही हासिल कर पाए। कलानौर हलके में रामधारी को 719 मत मिले। महम हलके में हजकां का प्रदर्शन अच्छा रहा। यहां के प्रत्याशी अनिल को 1,17,056 में से केवल 8450 वोट मिले।

बहुजन समाज पार्टी का प्रदर्शन भी बेहद निराशाजनक रहा। बसपा के प्रभारी मानसिंह मनहेड़ा ने रोहतक में ही प्रेस कांफ्रेंस में हजकां से चुनावी समझौता तोड़ने की घोषणा की थी। प्रदेश स्तरीय जो भी बैठकें हुईं वे रोहतक में ही हुई। यह बात और है कि पार्टी सुप्रीमो मायावती इस बार के चुनावों में रोहतक न आ सकी। जींद व करनाल में ही उनकी चुनावी रैलियां हुई। रोहतक में उनका कोई असर दिखाई नहीं दिया।

महम हलके में बसपा प्रत्याशी राजरानी शर्मा को 3989 मत प्राप्त हुए। रोहतक में बलवान सिंह को 2526 वोट प्राप्त हुए। गढ़ी सांपला किलोई में बसपा ने ब्राम्हण वर्ग से फतेहसिंह शर्मा को चुनाव मैदान में उतारा था। उनको 2135 वोट प्राप्त हुए हैं। आरक्षित हलके कलानौर में बसपा प्रत्याशी द्वारा किया गया नामांकन रद्द हो गया था। जिससे पार्टी की यहां किरकिरी हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रोहतक में हजकां व बसपा चारों खाने चित्त