DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘एचीवर’ का रिज्यूमे

आज के प्रतिस्पर्धी माहौल में उसी शख्स की तूती बोलती है, जो कामयाब होकर दिखाता है। इसलिए ज़रूरी हो जाता है कि आपका रिज्यूमे ‘एचीवर’ का रिज्यूमे नजर आए। ऐसा रिज्यूमे बनाने के तीन तरीके इस प्रकार हैं-
जिम्मेदारियों को कामयाबी में तब्दील करें: आपके पास रिज्यूमे में ताकतवर शब्दों के इस्तेमाल की जबर्दस्त प्रतिभा होनी चाहिए। बातचीत के दौरान भी आपको अपनी पिछली जॉब रिस्पांसिबिलिटीज़ को एचीवमेंट के तौर पर ही पेश करना आना चाहिए। रिज्यूमे में पावर वर्डस का इस्तेमाल करें। मसलन, ‘नॉर्थ रीज़न में सेल्स के लिए जिम्मेदारी उठाई’, इसे आप यूं लिखें- ‘संपूर्ण उत्तरी क्षेत्र में सेल बढ़ा दी।’ ‘जिम्मेदारी उठाने’ और ‘सेल बढ़ा दी’ में कितना फर्क है? इसी प्रकार आप अपने रोजमर्रा के काम को भी लेड, कंट्रोल्ड, एक्सीलरेटेड, कंडक्टेड, कंसेप्चुएलाइज्ड, एनहैंस्ड और एंश्योर्ड जैसे दमदार शब्दों में हाईलाइट करें।
जिम्मेदारियों के असरदार निर्वहन को प्रस्तुत करना: नियोक्ता को अपने रिज्यूमे के जरिए ये बताना चाहिए कि आपने अपनी जिम्मेदारियों को सिर्फ हैंडल नहीं किया, बल्कि परिणाम हासिल करके दिखाया। मिसाल के तौर पर - ‘कंपनी में एमआईएस इंटरफेस के लिए जिम्मेदार’ के बजाय आप रिज्यूमे में ‘नए मार्केट की खोज और मौजूदा ग्राहकों की बेहतर सर्विस के मकसद से टैक्नोलॉजी विकसित करने के लिए एमआईएस के साथ मिलकर काम किया’, लिखेंगे, तो इसका ज्यादा असर होगा।
कामयाबियों को दमदार तरीके से पेश करना: आप एचआर, मार्केटिंग या टैक्निकल, किसी भी फील्ड में हों- अपनी कामयाबी को दमदार तरीके से पेश करें। जैसे कि ‘तीन साल में 10 सीनियर मैनेजर और 25 अधीनस्थ कर्मचारी भर्ती किए’ या ‘एक साल में कंपनी का खर्च 1.2 करोड़ रु. घटाया।’ ऐसे एक्शन-वर्डस काफी दूर तक गहरा  असर दिखाते हैं, इसमें दोराय नहीं।   

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘एचीवर’ का रिज्यूमे