DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बस बनाम प्लेन

वैसे यह कोशिश निजी क्षेत्र में चलने वाली बसों की होती है। वे हवाई जहाज बनने की कोशिश करती हैं। पर हवाई जहाज हैं कि वे ही धीरे-धीरे प्राइवेट बस बनते जा रहे हैं। हवाई जहाज अब आम लोगों की सवारी से होड़ कर रहे हैं। इसलिए नहीं सरकार ने निजी विमान सेवाओं को इजाजत दे दी। हालांकि प्राइवेट बस ने तो अवतार इसी वजह से लिया। हो सकता है कल को विमान सेवाओं में भी ऐसे ही किसी अवतार को जन्म लेना पड़ जाए। जैसे धरती पर पाप बढ़ने पर भगवान को अवतार लेना पड़ता है, वैसे ही सवारियां बढ़ने पर हो सकता है ऐसी ही विमान सेवा को अवतार लेना पड़े।
पर यह होड़ सिर्फ सवारियां ढोने के मामले में ही नहीं है। चिकचिक में भी है। फर्क यही है कि प्राइवेट बस वालों ने अभी तक सरकार से निजी एयरलाइनों की तरह पैकेज नहीं मांगा है। यह नहीं कहा है कि मंदी के जमाने में हम लुट गए, हमारी मदद करो, वरना हमारा भी दीवाला निकल जाएगा। बस वालों ने अभी तक यह भी नहीं कहा है कि हम घाटे में चल रहे हैं। बसों के मामले में घाटे में चलने की सारी जिम्मेदारी सरकारी परिवहन निगमों की ही है। इसी तरह विमानों के मामले में कायदे से यह जिम्मेदारी एयर इंडिया की होनी चाहिए। वह अपनी यह जिम्मेदारी निभा भी रही है, पूरी ईमानदारी से। पर यहां तो घाटे का रोना प्राइवेट एयरलाइनवाले भी खूब रो रहे हैं और इसीलिए सरकार से पैकेज भी मांगते रहते हैं।
कायदे से यह गड़बड़झाला नहीं होना चाहिए। आखिर निजी विमान सेवाओं को भी तो वैसे ही चांदी कूटनेवाले रूट दिए जा रहे हैं, जैसे प्राइवेट बस वालों को दिए गए थे। इसमें जैसे परिवहन निगम के मैनेजमेंट का बड़ा भारी रोल रहा, वैसे ही हो सकता है एयर इंडिया मैनेजमेंट का भी रहा हो। आखिर सरकारी कर्मचारी होने का गर्व जितना निगम वालों का रहा, उतना ही एयर इंडियावालों को भी रहा होगा। पर जब निजी विमान सेवाओं को चांदी कूटनेवाले सारे रूट दे दिए गए तो फिर यह रोना क्यों? पर खैर, इन छोटी-मोटी बातों से विमान, बस नहीं बन सकते थे। सो अब उन्होंने बस वालों की तरह विमानों में आपस में झगड़ा करना भी शुरू कर दिया। पिछले दिनों पता चला कि एयर इंडिया का एक विमान जब उड़ रहा था, तभी पाइलटों और स्टॉफवालों के बीच मार-पीट हो गयी। विमान भगवान भरोसे उड़ता रहा। जब झगड़ा होता है तो बसें भी तो भगवान भरोसे ही चलती हैं। तो विमान क्यों नहीं। वे तो वैसे भी भगवान के ज्यादा करीब होते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बस बनाम प्लेन