DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जूलिया बढ़ा गई ईट प्रे लव की मांग

जूलिया नॉवेल ईट प्रे लव की बिक्री बढ़ा गई। शहर के युवाओं के बीच ढाई साल पहले आई इस किताब की चर्चा अब शुरू हुई है। कंपनियों में काम पर जाते, कॉल सेंटर से आती और कॉलेज में पढ़ने वाली शहर की युवा पीढ़ी इस यात्रा वृतांत शैली में लिखे गए नॉवेल की फैन बन गई है।

पिछले महीने पटौदी में हॉलीवुड की फिल्म ईट प्रे लव की शूटिंग हुई थी। हालांकि आम आदमी सख्त सुरक्षा के कारण जूलिया से मिल नहीं पाया। गांव मिर्जापुर में शूटिंग के दौरान लोग हॉलीवुड की चर्चित हीरोईन जूलिया रॉबर्टस की बस एक झलक देख पाए। सख्त पहरे के बीच पटौदी के हरिमंदिर आश्रम और नवाब पटौदी के किले में फिल्म ईट प्रे लव की शूटिंग हुई और इसकी चर्चा शहर में खूब हुई।

फिल्म की शूटिंग करके जूलिया रॉबर्टस और फिल्म की टीम तो रवाना हो गई, मगर उनकी फिल्म जिस किताब को आधार बना कर बन रही है, उसकी चर्चा शहर में छोड़ गई। शहर के बुक स्टोर्स में ईट प्रे लव की मांग बढ़ गई है। युवा पीढ़ी इसे पढ़कर जानना चाह रही है कि आखिर इस किताब में खास क्या है। सेक्टर 56 में रहने वाले वीके कहते हैं कि मैंने भी इस किताब के बारे में शूटिंग के बाद जाना। यह एक यात्रा वृतांत टाइप स्टोरी है। इसमें नायिका तीन देशों का सफर करती है। प्रे वाला हिस्सा अपने देश में फिल्माया गया है।

इस संदर्भ में किताबों की शॉप लैंडमार्क के भाष्कर ने बताया कि एलिजाबेथ गिलबर्ट की यह किताब लगभग ढाई साल पहले आई थी। तब इक्के-दुक्के लोगों की दिलचस्पी इस किताब में थी। आज स्थिति यह है कि काफी संख्या में युवा ईट प्रे लव पढ़ना चाह रहे हैं। यूके के  प्रकाशक की यह किताब इन दिनों लोगों की दिलचस्पी का केंद्र बनी है। आमतौर पर जिस किताब पर मूवी बनती है, उसका कलेवर बदलकर मूवी एडिशन बिक्री के लिए आता है। अभी इस किताब का ऐसा कोई संस्करण नहीं आया है। देवदास फिल्म के आने पर शरतचंद्र के नॉवेल देवदास की बिक्री भी बढ़ गई थी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जूलिया बढ़ा गई ईट प्रे लव की मांग