DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वकील के घर डकैती में डिलीवरी मैन था मास्टरमाइंड

आनंद विहार इलाके में वकील के घर डकैती डालने की योजना एक डिलीवरी मैन ने बनाई थी। वह करीब एक साल से उनके घर में सामान लेकर आता था। मूल रूप से बांग्लादेश के इस डिलीवरी मैन को मोबाइल सर्विलांस के जरिए पुलिस ने दबोच लिया। उसकी निशानदेही पर लूटी गई रकम में से साढ़े 44 हजार रुपए व मोबाइल बरामद कर लिया गया है। उसके दो साथी बांग्लादेश भाग चुके हैं, जबकि अन्य दिल्ली में छिपे हुए हैं। इनकी तलाश में पुलिस टीमें संभावित स्थानों पर छापे मार रही हैं।

अभियुक्त का नाम मोहसिन है। उसे तथा उसके साथियों को वर्ष 2005 में आनंद विहार थाने की पुलिस ने गिरोहबंदी में गिरफ्तार किया था। जेल से आने के बाद मोहसिन पुष्पांजलि स्थित एक दुकान पर डिलीवरी मैन का काम कर रहा था। वह करीब एक साल से जागृति एंकलेव निवासी वकील सुरेंद गंभीर के घर में सामान देने जाता था। इस दौरान उसे वकील के घर के लोगों के बारे में पूरी जानकारी हो गई। इतना ही नहीं उसने वारदात के लिए अंदर घुसने का रास्ता भी तलाश लिया था। उसने अपने साथियों के साथ मिल कर डकैती की वारदात को अंजाम दिया और लाखों के आभूषण, नगदी व चार मोबाइल फोन लूट लिए।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लूटे गए सभी मोबाइल फोन को सर्विलांस पर लगा दिया गया था। डकैतों ने एक फोन की चिप निकाल कर, उसमें दूसरी चिप डालकर उसे चलाना शुरू किया तो पुलिस को अहम सुराग मिल गया। मोबाइल की सर्विलांस के जरिए डकैत मोहिसन को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में उसने सच्चाई उगल दी। डकैती की इस वारदात का वह मास्टरमाइंड था। उसके साथियों की तलाश जारी है।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वकील के घर डकैती में डिलीवरी मैन था मास्टरमाइंड