DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हत्या के मामले में दो सगे भाईयों को उम्रकैद

मामूली विवाद में एक युवक की हत्या करने वाले दो सगे भाईयों को अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। तीस हजारी स्थित एडिशनल सेशन जज शैलेन्द्र कौर की अदालत ने हत्यारे भाईयों हितेश कुमार (32) और ब्रिजेश कुमार (34) पर 5-5 हजार रुपए का जुर्माना भी किया है। अदालत ने दोषी भाईयों को सजा सुनाते हुए कहा कि ‘इसमें कोई शक वाली बात नहीं है कि विजय चौहान की हत्या इन दोनों भाईयों ने ही की है। क्योंकि मृतक ने अभियुक्तों की पहचान के बाबत अपनी मां को अवगत करा दिया था।’

सरकारी वकील मसूद अहमद ने अदालत से हत्यारे भाईयों को कठोर से कठोर सजा सुनाने की मांग की। अदालत ने सरकारी वकील की दलीलों को मानते हुए दोषियों को सश्रम उम्रकैद की सजा सुनाई है। अभियुक्तों ने 14 अक्तूबर 2004 को विजय चौहान को गोली मार दी थी। अभियोजन पक्ष के अनुसार मुजरिमों के पिता प्रेमसिंह को अशोक विहार थाना क्षेत्र में हुए एक झगड़े के मामले में मृतक समझौता करने को कह रहा था, जिससे गुस्साए दोनों भाईयों ने उसे गोली मार दी थी। विजय की दो दिन बाद उपचार के दौरान अस्पताल में मौत हो गई थी। 

अदालत ने अभियोजन द्वारा पेश तथ्यों व साक्ष्यों के मद्देनजर हितेश और ब्रिजेश को विजय चौहान की हत्या का दोषी ठहराया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हत्या के मामले में दो सगे भाईयों को उम्रकैद