DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सर्वाधिक दूरी वाली आकाशगंगा का पता लगा

सर्वाधिक दूरी वाली आकाशगंगा का पता लगा

नासा के वैज्ञानिकों ने सर्वाधिक दूरी वाली आकाशगंगा के समूह का पता लगाया है। यह खोज अंतरिक्ष एजेंसी की चन्द्र एक्स रे पर्यवेक्षणशाला तथा आप्टिकल एवं इंफ्रारेड दूरबीन से एकत्र किए गए आंकड़ों के अध्ययन की मदद से की गई है।

नासा के अनुसार आकाशगंगा का यह समूह जेकेसीएस041 के नाम से जाना जाता है और यह 10.2 अरब प्रकाशवर्ष दूर है। इससे पहले करीब एक अरब प्रकाश वर्ष की दूरी पर आकाशगंगा का पता लगाया गया था।

राष्ट्रीय अंतरिक्ष भौतिकी संस्थान के स्टीफेनो एंडरसन ने मिलान में कहा कि यह वस्तु उस वांछित दूरी पर स्थित है जो एक आकाशगंगा समूह के लिए मानी जाती है। हमें नहीं लगता कि गुरूत्वाकर्षण शक्ति इस आकाशगंगा को काफी पहले बनाने के लिए इतनी तेज काम कर सकती है।

आकाशगंगा का समूह अंतरिक्ष में गुरूत्वाकर्षण शक्ति से बंधी सबसे बड़ी वस्तु है। ब्रिटेन के ब्रिस्टल विश्वविद्यालय के बने मुगहम ने कहा कि यह खोज उत्साहजनक है क्योंकि यह ट्राइरानोसोरस रेस (डायनोसोर) जीवाश्म पाने के समान है जो सबसे पुराना अवशेष माना गया है।

उन्होंने कहा कि एक जीवाश्म आपकी डायनोसोरस की कल्पना पर उपयुक्त बैठ सकता है लेकिन यदि आपको कई जीवाश्म का पता चले तो आप यह सोचना शुरू कर देंगे कि डायनोसोरस कैसे विकसित हुए। यही बात आकाशगंगा समूह और अंतरिक्ष विज्ञान के बारे में हमारी समझ पर भी लागू होती है।

इस समय इतनी बड़ी संरचना का पता चलने से इस बारे में महत्वपूर्ण सूचना का खुलासा हो सकता है कि ब्रहमाण्ड कैसे विकसित हुआ। लिहाजा संरचना, द्रव्यमान और तापमान जैसे आकाशगंगा के गुणों के अध्ययन से इस बात का खुलासा हो सकता है कि ब्रहमांड कैसे बना।

एंडरसन ने कहा कि अंतरिक्ष भौतिकी के लिए यह खोज इसलिए उत्साहजनक है क्योंकि इसको लेकर आगे विस्तार से अध्ययन किया जा सकता है। जेकेसीएस041 का मूल रूप से ब्रिटेन के इंफ्रारेड दूरबीन द्वारा 2006 में किए गए एक सर्वेक्षण में पता लगा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सर्वाधिक दूरी वाली आकाशगंगा का पता लगा