DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पत्रकारों की सुरक्षा की मांग को उठाया

अखिल भारतीय हिन्दी, उर्दू पत्रकार समन्वय समिति ने उत्तर प्रदेश में आए दिन पत्रकारों पर हो रहे हमलों की कड़ी निंदा करते हुए मुख्यमंत्री मायावती से इस पर तुरंत रोक लगाने की मांग की है।

समिति के संयोजक आलोक मोहन ने जारी एक बयान में कहा है कि राज्य में आए दिन जिस तरह से चौथे स्तंभ को कमजोर करने की साजिश की जा रही है। उससे अब पत्रकारों का वहां काम करना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि अगर कोई पत्रकार भ्रष्ट अधिकारियों, राजनेताओं तथा भ्रष्ट पुलिस अफसरों के खिलाफ कोई खबर तथ्यात्मक तरीके से लिखता है तो उस पर स्थानीय प्रशासन का कहर बनकर टूटता है।


मोहन ने कहा कि लखीमपुर खीरी में जिस तरह से पुलिस की शह पर पत्रकार ओम प्रकाश शुक्ला पर बदमाशों ने कातिलाना हमला किया तथा एक दूसरे पत्रकार रमजानुलक को फर्जी मामलों में फंसाकर उन पर कई फर्जी मुकदमें दर्ज किए गए हैं उससे यह साफ जाहिर होता है कि भ्रष्ट राजनेता तथा अधिकारी पत्रकारों की कलम तथा स्वस्थ्य पत्रकारिता पर अपना पहरा बैठाना चाहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पत्रकारों की सुरक्षा की मांग को उठाया