DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीनी प्रधानमंत्री से शनिवार को मुलाकात करेंगे मनमोहन

चीनी प्रधानमंत्री से शनिवार को मुलाकात करेंगे मनमोहन

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की चीनी प्रधानमंत्री वेन जिया बाओ के साथ इस थाई समुद्रतटीय सैरगाह पर शनिवार को महत्तवपूर्ण भेंट होने जा रही है और यह सुरम्य स्थल एशिया के दोनों विशाल पड़ोसियों के बीच सीमा विवाद और अन्य मुद्दों को लेकर उत्पन्न कटुता को कम करने का सुअवसर साबित हो सकता है।

दोनों नेता यहां दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संघ (आसियान) और पूर्व एशियाई देशों की शिखर बैठकों के दौरान अलग से मुलाकात करने वाले हैं। उल्लेखनीय है कि चीन ने हाल में अरुणाचल प्रदेश के मुद्दे पर कुछ टिप्पणियां की थीं, जिसका भारत ने करारा जवाब दिया था। अरुणाचल प्रदेश पर भारत के संप्रभु अधिकार को लेकर चीन सवाल खड़े करता रहता है और उसने इस सीमावर्ती प्रदेश में हाल के विधानसभा चुनावों के दौरान मनमोहन सिंह की यात्रा पर आपत्ति उठाई थी। इस पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया जताते हुए चीन से साफ कहा था कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है।

विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि दोनों प्रधानमंत्रियों की मुलाकात में आपसी हित के किसी भी मुद्दे पर चर्चा हो सकती है। भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर में रहने वाले लोगों को चीन का वीजा अलग कागज पर देने के मुद्दे पर भी आपत्ति जताई है क्योंकि चीन के इस आचरण से ऐसा लगाता है कि वह जम्मू कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानता।

दूसरी ओर चीन सरकार को भारत से इस बात पर नाराजगी है कि उसके नागरिकों
के लिए वीजा नियम कड़े कर दिए है जिससे व्यवसायिक वीजा पर भारत आने वाले चीनी श्रमिकों के लिए मुसीबत हो रही है।

भारत ने देश में काम के लिए आए चीनी नागरिकों को व्यावसायिक वीजा की जगह रोजगार वीजा हासिल करने के लिए 31 अक्टूबर तक का समय दे रखा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चीनी प्रधानमंत्री से शनिवार को मुलाकात करेंगे मनमोहन