DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर दीजिए इनकार

माना कि आजकल दुनिया भर में मंदी का दौर है, और हर तरफ नौकरियों का टोटा है.. लेकिन फिर भी कुछ जॉब ऑफर ऐसे हो सकते हैं, जिन्हें मंजूर करने की गवाही आपका मन नहीं देता। इसकी वजह कुछ भी हो सकती है। जैसे कि ये आपकी योग्यता और अनुभव के हिसाब से काफी कमतर हो, या फिर इंटरव्यू के दौरान या बाद में आप खुद को कंपनी के अनुकूल न पा रहे हों। फिर भी मिली-मिलाई नौकरी को अस्वीकार करने का साहस कम ही लोग कर पाते हैं। लेकिन अगर आप हमेशा अच्छी तरह सोच समझकर अपने लक्ष्य निर्धारित करने वाले काबिल प्रोफेशनल हैं, तो किसी भी जॉब ऑफर को स्वीकार करने से पहले इसके हर पहलू की जांच करके ही कदम उठाएंगे। ऐसे लोगों को कई बार ऑफर ठुकराने का कठोर फैसला भी लेना पड़ जाता है। शालीनता के साथ ‘ना’ कहने के कुछ सही तरीके इस प्रकार हैं-

- ऑफर नामंजूर करने के फैसले के बाद, सबसे पहले इसकी जानकारी फोन से संबंधित अधिकारी को दें। उन्हें अपने फैसले का कारण भी सविस्तार बताएं।

- इसके बाद लिखित रूप में अपने फैसले की औपचारिक सूचना कंपनी के अधिकृत मैनेजर को भिजवाएं।

- पत्र या ई-मेल संक्षिप्त और स्पष्ट होना चाहिए और इसमें विनम्रता के साथ कारण का जिक्र भी होना चाहिए। ऐसा न होने पर अन्य कंपनियों को भी आपके गैर-जिम्मेदाराना रवैये का पता चल सकता है, जिससे आपका ही नुकसान होगा।

- अपने पत्र में कंपनी को ऑफर के लिए शुक्रिया कहना न भूलें, और साफ तौर पर उन कारणों का उल्लेख ज़रूर करें, जिनकी वजह से आप वहां काम करने के लिए आकृष्ट हुए थे। इससे भविष्य में आपके लिए कंपनी के दरवाजे बंद नहीं होंगे। पत्र में अपना फोन नंबर भी फिर से दें।

- ना की चिट्ठी रवाना करने के साथ ही नई, पसंदीदा नौकरी की खोज में फिर से जुट जाइये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कर दीजिए इनकार