DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुड़गांव व पटौदी विधानसभा सीट कांग्रेस के हाथ से फिसली

कांग्रेस के लिए गुड़गांव जिले से राहत देने वाली खबर है। यहां से पार्टी को लाभ नहीं हुआ, तो हानि भी नहीं उठानी पड़ी। चार सीटों में से दो कांग्रेस के पाले में रही। जबकि, वर्ष 2005 में भी गुड़गांव जिले से कांग्रेस को दो सीटें ही मिली थी। गुरुवार को जारी चुनाव नतीजों में बादशाहपुर व सोहना सीटें कांग्रेस के खाते में गई, जबकि गुड़गांव और पटौदी विधानसभा सीट कांग्रेस के हाथ से फिसल गई।

गुड़गांव से निर्दलीय, जबकि पटौदी सुरक्षित सीट से इनेलो ने बाजी मारी। बादशाहपुर से कांग्रेस के राव धर्मपाल ने निर्दलीय उम्मीदवार राकेश को 11385 मतों से पराजित किया। सोहना विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के धर्मवीर ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बीएसपी के जाकिर हुसैन को कड़े मुकाबले में 505 मतों के अन्तर से हराया।

पटौदी विधानसभा क्षेत्र में इनेलो के गंगाराम ने कांग्रेस के भूपेन्द्र चौधरी को 24747 मतों से पराजित किया। गुड़गांव विधानसभा क्षेत्र में निर्दलीय सुखबीर सिंह कटारिया ने कांग्रेस के धर्मवीर गाबा को 2140 मतों से हराया। कांग्रेस को सबसे बड़ा झटका गुड़गांव सीट से लगा, क्योंकि इस सीट पर कांग्रेस को अक्सर जीत मिलती रही हैं। इस बार गुड़गांव से कांग्रेस विधायक को लोगों की नाराजगी का सामना करना पड़ा। शहर में बिजली, पानी और सड़क की समस्या उनकी हार की मुख्य वजह बनी।

साइबर सिटी में बीजेपी को भी निराशा हाथ लगी। जबकि माना जा रहा था कि मुकाबला दोनों के बीच होगा। लेकिन, निर्दलीय उम्मीदवार कटारिया ने मात्र दो हजार कुछ वोटों से जीत दर्ज की। यही हाल पटौदी में हुआ, जहां कांग्रेस विधायक भूपेन्द को लोगों के कोप का भाजन होना पड़ा और इनेलो के गंगाराम को लोगों ने चुना।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुड़गांव व पटौदी विधानसभा सीट कांग्रेस के हाथ से फिसली