DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

103 गांवों के लिए योजना में महज दो बोरिंग

किसानों को सिंचाई की सुविधा देने के नाम पर चलाई गई सिंचाई समृद्धि परियोजना के तहत दादरी ब्लॉक में मात्र दो बोरिंग कराए जाएंगे। ब्लॉक में इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए सैकड़ों किसान लाइन में हैं। रबी की फसल की बुआई की तैयारी कर रहे किसानों में इस योजना से भारी निराशा है।

योजना के तहत पात्रता की शर्तें पूरा करने वाले किसानों के लिए निःशुल्क बोरिंग कराया जाना है। दादरी ब्लॉक में 103 गांव हैं। फसल की सिंचाई के लिए इस योजना के तहत बोरिंग कराने की आस में आए इन गांवों के सैकड़ों किसान हर दिन ब्लॉक से निराश होकर लौट रहे हैं। किसानों का कहना है कि एक तो सूखा, दूसरे भाव में गिरावट के चलते धान की फसल से उन्हें कोई लाभ नहीं हुआ और अब सिंचाई के लिए चलाई गई योजना से भी उन्हें निराशा ही हाथ लगी है।

एक अनुमान के मुताबिक क्षेत्र की लगभग दस प्रतिशत भूमि की सिंचाई के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। अब किसानों के माथे पर रबी की फसल की बुआई व सिंचाई के लिए चिंता की लकीरें दिख रही हैं। ब्लॉक के बीडीओ विपिन सहगल इस योजना के तहत बोरिंग का लक्ष्य शासन की तरफ से बढ़ाए जाने की उम्मीद जता रहे हैं, लेकिन फिलहाल 103 गांवों के लिए महज दो बोरिंग ही कराए जा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:103 गांवों के लिए योजना में महज दो बोरिंग