DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भीख नहीं अधिकार चाहिए : मौलाना मदनी

केन्द्र सरकार हज सब्सिडी के नाम पर किया जाने वाला नाटक बंद करे। हमें हमारे अधिकार दे दे और फिर चाहे हज सब्सिडी को पूरी तरह से समाप्त कर दे। यह कहना है जमीयत उलेमा के सुप्रीमो मौलाना महमूद मदनी का। देवबंद में पहली नवंबर से आयोजित होने वाले तीन दिवसीय जमीयत अधिवेशन की तैयारियों की समीक्षा करने मेरठ आए मौलाना मदनी बुधवार को शहर विधायक के आवास पर पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे।

हाजियों को दी जाने वाली सब्सिडी में कमी के मुद्दे पर केन्द्र सरकार की खिंचाई करते हुए उन्होंने कहा कि यह फैसला समझ से परे है, क्योंकि इससे किराये में बेवजह की बढ़ोत्तरी होगी। उन्होंने साफ कहा कि सरकार यदि इस फैसले को अगले साल से लागू करती तो बात कुछ समझ में आती। हांलाकि उन्होंने साथ ही साथ यह भी जोड़ा कि सरकार को चाहिए कि वो हमारी बुनियादी समस्याओं का समाधान कर दे और फिर भले ही पूरी सब्सिडी को समाप्त कर दे।

उन्होंने कहा कि यदि मुसलमानों को उनके अधिकार मिल जाएं तो फिर किसी को हमारी फिक्र करने की जरुरत नहीं। इससे पूर्व मौलाना मदनी ने सौलाना, काशी, सरधना, लावड़, ज्ञानपुर व जई का दौरा किया और अधिवेश की तैयारियों की समीक्षा की। मौलाना मदनी ने जमीयत के प्रदेश उपाध्यक्ष हाजी युसूफ कुरैशी का हाल चाल भी जाना। इस अवसर पर जमीयत के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष कारी शौकत, जिलाध्यक्ष मौलाना शाहबुद्दीन, जिला महामंत्री कारी अमीर आजम असअदी, शहर अध्यक्ष काजी जैनुल राशेदीन, हाजी हनीफ कुरैशी व मौलाना अरीजुद्दीन मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भीख नहीं अधिकार चाहिए : मौलाना मदनी