DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों को सबक सिखाने का आदेश दे गए चिदंबरम

गृहमंत्री पी चिदंबरम आला पुलिस अधिकारियों को निर्देश दे गए कि वे हर हाल में नक्सलियों को कुचल दें। नक्सल विरोधी अभियान के लिए जवानों की कमी नहीं होने दी जाएगी। विधानसभा चुनाव के पहले झारखंड को पैरा मिलिट्री फोर्स की 50 और कंपनियां मिलेंगी। चिदंबरम को नक्सलग्रस्त इलाकों का ब्लू प्रिंट भी दिया गया है। गृहमंत्री के साथ खुफिया के अधिकारी पी महेंरदू , सचिव पीआर चौधरी और सीरआरपीएफ के आलाअधिकारी भी थे।

22 अक्तूबर को राजभवन में केंद्र से आए अधिकारियों ने झारखंड के डीजीपी बीडी राम, खुफिया के आइजी एसएन प्रधान और अन्य पदाधिकारियों से मुलाकात भी की। गृह मंत्री को यह बताया गया कि झारखंड को 11 बटालियन फोर्स मिल चुकी है। गृह मंत्री ने और जवान उपलब्ध कराने का आश्वासन भी दिया। गृह मंत्री को यह बताया कि नक्सलियों के विरुद्ध अभियान की शुरुआत यहां कर दी गई है।

गृहमंत्री ने निर्देश दिया कि चुनाव अपराधमुक्त माहौल में हो, इसकी तैयारी पुलिस के अधिकारी अभी से ही शुरू कर दें। झारखंड को आधुनिक संसाधन उपलब्ध कराने का भी भरोसा गृहमंत्री ने दिया है। झारखंड में नक्सलियों के विरुद्ध अभियान की शुरुआत सारंडा से की गई है। पड़ोसी राज्यों से झारखंड को सहयोग नहीं मिल रहा है। बार-बार अनुरोध के बाद भी बंगाल प्रशासन सीमावर्ती इलाकों में अभियान नहीं चला रहा है। इसकी भी जानकारी केंद्र को दी गई।

बताया गया कि झारखंड में घटना के अंजाम देने के बाद नक्सली पड़ोसी राज्यों में चले जाते हैं। झारखंड के खुफिया तंत्र को और मजबूत करने की वकालत भी आला अधिकारियों ने की। चिदंबरम ने कहा कि जरूरत पड़ने पर कोबरा बटालियन को भी इस अभियान में लगाया जा सकता है। लालगढ़ का इलाका जब नक्सलियों के कब्जे में था, तो कोबरा के जवानों ने ही इसे मुक्त कराया था। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नक्सलियों को सबक सिखाने का आदेश दे गए चिदंबरम