DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तंगहाल दलित ने मुख्यमंत्री से लगाई गुहार

इलाहाबाद के गांव चांद खम्हरिया खीरी के दलित बाबूलाल ने मुख्यमंत्री से आर्थिक सहायता की गुहार लगाई है। बाबूलाल ने तीन बच्चों व भाई की मौत और पत्नी की बीमारी के चलते आर्थिक तंगी के कारण यह गुहार लगाई है। पत्नी के पेट का दो बार ऑपरेशन कराना पड़ा। उसे टीबी भी है। उसके इलाज में करीब 60 हजार रुपए से अधिक खर्च हो गया है।

आर्थिक तंगी ने बीमार हुए तीनों बच्चों और एक भाई को मौत की नींद सुलाया। तंगहाली का यह आलम है कि वह अपनी पत्नी व भाई के बच्चों को पालने में असहाय है। यह व्यथा है जिला इलाहाबाद के मेजा तहसील के गांव चांद खम्हरिया खीरी के दलित बाबूलाल की। उन्होंने विधान भवन के सामने धरना पर बैठ कर मुख्यमंत्री से आर्थिक सहायता की गुहार लगाई।

बाबूलाल ने बताया कि वह भूमिहीन है और किसी तरह मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करता है। उसकी पत्नी सुनीता को टीबी हो गई है। इसके अलावा उसके पेट में अन्य गंभीर बीमारी के चलते दो बार ऑपरेशन भी कराया, जिसमें काफी पैसा लग गया। इस बीच बच्चे और भाई भी बीमार हो गए। आर्थिक संकट के कारण इलाज संभव नहीं था।

नतीजतन इन सबकी मृत्यु हो गई। इसी दौरान प्रकृति का कहर बरपा और बारिश में मकान भी गिर गया। जिससे वह और उसका पूरा परिवार खुले आसमान के नीचे गुजर-बसर कर रहा है। बाबूलाल ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए पत्नी के इलाज, भाई के बच्चों को पालने और मकान बनवाने के लिए आर्थिक सहायता की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तंगहाल दलित ने मुख्यमंत्री से लगाई गुहार