DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कम्प्यूटरजी करेंगे सिपाहियों की भर्ती

ईजी-डीआईजी नहीं, यूपी पुलिस में सिपाहियों की भर्ती का जिम्मा इस बार ‘कम्प्यूटरजी’ संभालने जा रहे हैं। माप-तौल से लेकर दौड़ और फिर लिखित परीक्षा तक सब कुछ कम्प्यूटर और अत्याधुनिक सेंसरों के माध्यम से होगी। पहले से सिपाही भर्ती में घोटाले का दंश झेल रही यूपी पुलिस के अफसर इस बार किसी तरह का जोखिम लेने को तैयार नहीं हैं। यह पहला अवसर है जब यूपी पुलिस भर्ती प्रक्रिया में इस तरह अत्याधुनिक तकनीकी का इस्तेमाल करने जा रही है। इसके लिए खास तौर से अफसरों और कर्मचारियों को प्रशिक्षित भी किया गया है। 

गुरुवार से शुरू हो रही सिपाही भर्ती प्रक्रिया में ज्यादातर केन्द्रों पर कम्प्यूटराइज व्यवस्था लागू करने की तैयारी है। भर्ती प्रक्रिया से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक सीने की माप लेने का काम फिलहाल मैनुअल होगा। लम्बाई और वजन नापने के लिए भर्ती केन्द्रों को मशीन और कम्प्यूटर का इस्तेमाल करने के निर्देश दिए गए हैं। अभ्यर्थियों की दौड़ की गति सीमा लगे सेंसर रिकार्ड करेंगे।

फिजिकल टेस्ट में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को कम्प्यूटर चिप बाँधी जाएगी। चिप के सहारे सेंसर अभ्यर्थियों पर लगातार नजर रखेंगे। अफसरों के मुताबिक सीने की माप के लिए भी जल्द ही कम्प्यूटराइज्ड सिस्टम लागू कर दिया जाएगा। सिपाही भर्ती में किसी तरह की  साक्षात्कार परीक्षा नहीं होगी। वैकल्पिक प्रश्नोत्तर वाली लिखित परीक्षा के बाद सीधे भर्ती परिणाम घोषित किए जाएँगे। लिखित परीक्षा के उत्तरों की जाँच भी एसएससी की तर्ज पर कम्प्यूटर के जरिए होगी।

चार साल पूर्व हुए सिपाही भर्ती घोटाले के जिन्न से पीछा छुड़ाने में लगी यूपी पुलिस भर्ती प्रक्रिया को हर हाल में पारदर्शी बनाने में जुटी है। तय योजना के तहत किसी भी हाल में कम्प्यूटर और मशीन से छेड़छाड़ की इजाजत नहीं होगी। भर्ती प्रक्रिया से जुड़े अफसरों और कर्मचारियों को खास तौर से इस बारे में दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कम्प्यूटरजी करेंगे सिपाहियों की भर्ती